जैज़ नृत्य

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज
आधुनिक जैज़ नर्तक.

जैज़ नृत्य , नृत्य शैलियों की व्यापक श्रृंखला द्वारा सामान रूप से प्रयोग किया जाने वाला एक वर्गीकरण है. 1950 के दशक से पहले, जैज़ नृत्य उन शैलियों को इंगित करता था जो अफ्रीकन अमेरिकन देशी नृत्यों से उपत्पन्न हुए होते थे. 1950 के दशक में, जैज़ नृत्य की एक नयी विधा-आधुनिक जैज़ नृत्य -अस्तित्व में आई. जैज़ नृत्य की प्रत्येक पृथक शैली की जड़ें इन दोनों विशिष्ट स्रोतों में से ही किसी एक में पायी जाती हैं.

इतिहास[संपादित करें]

परंपरागत[संपादित करें]

1950 के मध्य तक, जैज़ नृत्य उन शैलियों को इंगित करता था जो 19वीं सदी के उत्तरार्ध से 20वीं सदी के मध्य के अफ्रीकन अमेरिकन देशी नृत्यों से उपत्पन्न हुए थे. जैज़ नृत्य को अक्सर टैप नृत्य कहा जाता था क्योंकि जैज़ संगीत की धुनों पर टैप नृत्य, उस समय का लोकप्रिय नृत्य था. समय के साथ जैज़ नृत्य से विकसित होकर विविध श्रेणियों के सामाजिक तथा नृत्य नाटिकाओं का जन्म हुआ. जैज़ काल के बाद के दिनों में जैज़ नृत्य के लोकप्रिय रूपों में केकवॉक, ब्लैकबॉटम, चार्ल्सटन, जिटरबग, बूगी वूगी, स्विंग तथा इसी से सम्बंधित लिंडी हॉप सम्मिलित थे. आज, इनमें से कई नृत्य शैलियां अभी भी लोकप्रिय हैं तथा सीखी व सिखाई जाती हैं.

आधुनिक[संपादित करें]

1950 के दशक के बाद, कैथरीन डनहम जैसे अग्रगामी व्यक्तियों ने परंपरागत कैरेबियन नृत्य के मूलभावों को लेकर उसे एक प्रदर्शन कला के रूप में विकसित कर दिया. मनोरंजन संगीत के अन्य हावी हो रहे रूपों के कारण, ब्रॉडवे में विकसित हुआ जैज़ नृत्य एक नयी, मृदु शैली थी जिसे आज भी सीखा जाता है तथा आधुनिक जैज़ के रूप में जाना जाता है, जबकि टैप नृत्य यहां से एक अलग शाखा के रूप में अलग होकर एक अन्य विकास पथ पर चला गया. जैज़ नृत्य की प्रदर्शन शैली प्रमुख रूप से बॉब फ़ॉसे के कार्य से लोकप्रिय हुई जिसे ब्रॉडवे के प्रदर्शनों के उदाहरण से समझा जा सकता है जैसे शिकागो, कैबरे, डैम यैन्कीज़ तथा दि पजामा गेम्स. आधुनिक जैज़ नृत्य अब भी संगीत थियेटर का एक अभिन्न अंग है तथा इसे अक्सर संगीत वीडियो तथा प्रतिस्पर्धात्मक नृत्यों में देखा जा सकता है.

आधुनिक जैज़ नृत्य[संपादित करें]

जैज़ नर्तक अक्सर चमड़े के बने जैज़ जूते पहनते हैं, इससे उन्हें मोड़ लेते समय सहायता प्राप्त होती है (उदाहरण के लिए पिरुए).[कृपया उद्धरण जोड़ें]

नृत्य करने से पहले, नर्तक आम तौर पर मांसपेशियों को गर्म तथा लचीला बनाने के लिए व्यायाम करते हैं, इससे उन्हें चोटों से बचने में सहायता मिलती है. इसके अलावा, अनुकूलन के लिए कोर को मजबूत बनाने के व्यायाम किये जाते हैं.

तकनीक[संपादित करें]

टो राइज़ में, नर्तकी घुटने के बल बैठी मुद्रा से खड़ी होती है तथा उसके शरीर का भार उसके पैर के अंगूठों पर होता है.
एक्रो नर्तक स्ट्रैडल स्प्लिट उछाल करते हुए, जो कि जैज़ नृत्य में होने वाली कई उछालों में से एक है.

आधुनिक जैज़ नृत्य प्रायः अन्य नृत्य शैलियों से प्रभावित होता है, उदाहरण के लिए एक्रो, बैले, कन्टेम्परेरी, लाइरिकल तथा हिप-हॉप. इसी प्रकार, अन्य कई नृत्य शैलियां जैज़ नृत्य से प्रभावित हैं.

नृत्य के अधिकांश रूपों की तरह ही तकनीक ही जैज़ नृत्य की सभी हरकतों का आधार है. विशेष रूप से, जैज़ नर्तकों को बैले तकनीक के गहरे कार्य-ज्ञान से लाभ होता है, परिणामस्वरूप, जैज़ नृत्य के पाठ्यक्रम में आमतौर से बैले का प्रशिक्षण शामिल होता है.

आधुनिक जैज़ नृत्य में विभिन्न तकनीकें सम्मिलित हैं, जैसे:

केंद्र नियंत्रण
नियंत्रण के केंद्र को गतिविधयों की धुरी के रूप में प्रयोग किये जाने से गतिविधियों में संतुलन व नियंत्रण रखना संभव हो जाता है जो अन्यथा नर्तक का नियंत्रण खो देतीं.
स्थान निर्धारण
इसकी सहायता से नर्तक पिरुए तथा फोरेट जैसे मोड़ लेते हुए बार-बार घूमने से उत्पन्न होने वाले चक्करों का असर कम करते हुए अपना संतुलन व नियंत्रण बनाये रख पाते हैं.
संकेत करना
नर्तक संकेत करते हुए अपने टखनों को खींचते हैं और अपने पैर के पंजे से संकेत करते हैं तथा ऐसा करते हुए वे अपने पैरों को टांग की सीध में ले आते हैं जो दर्शकों को सौन्दर्यपरक रूप से आनंदित करता है.

उल्लेखनीय निर्देशक, नर्तक, तथा नृत्य-निर्देशक[संपादित करें]

  • कैथरीन डनहम, ब्लैक थियेट्रिकल नृत्य की अग्रणी.
  • जैक कोल, जैज़ नृत्य तकनीक के जन्मदाता माने जाते हैं.[कृपया उद्धरण जोड़ें] वे मैट मैटोक्स, बॉब फोसे, जेरोम रॉबिंस, ग्वेन वर्डन, तथा अन्य कई नृत्य-निर्देशकों के लिए प्रमुख प्रेरणा स्रोत थे.
  • यूजीन लुई फैसियोटो (उर्फ "लुइगी") एक सिद्ध नर्तक, 1950 के दशक में अशक्त कर देने वाली वाहन दुर्घटना के पश्चात उन्होंने जैज़ नृत्य की एक नयी शैली विकसित की जो जोश में लाने वाले व्यायाम पर आधारित थी तथा इससे उन्हें अपनी शारीरिक अशक्तता पर विजय प्राप्त करने में सहायता मिली.
  • बॉब फौसे एक प्रख्यात जैज़ नृत्य-निर्देशक, जिन्होनें फ्रेड एस्टायर तथा बर्लेस्क्यु एवं वॉडविल शैलियों से प्रभावित होकर जैज़ नृत्य का एक नया प्रकार विकसित किया.
  • गस जिओर्डैनो, एक प्रभावशाली जैज़ नर्तक तथा नृत्य-निर्देशक.
  • जेरोम रॉबिंस, कई सफल संगीत-नाटिकाओं के नृत्य-निर्देशक, जिनमें पीटर पैन , दि किंग एंड आई , फिडलर ऑन दि रूफ , जिप्सी , फनी गर्ल तथा वेस्ट साइड स्टोरी शामिल हैं.
  • ग्वेन वर्डन, डैम येंकीज़ , शिकागो , और स्वीट चैरिटी में अपनी भूमिका के लिए मशहूर हैं.

ग्रन्थ सूची[संपादित करें]

[1] एलिएन सेगुइन, "Histoire de la danse jazz", 2003, संस्करण चिरोन (CHIRON), ISBN 2-7027-0782-3, पीपी 281

[2] जेनिफर डनिंग, "एल्विन ऐले: नृत्य में एक जीवन", दा कैपो प्रेस, पीपी 1998-468

[3] ए. पीटर बेली, "रेव्लेशन: एल्विन ऐले की आत्मकथा", कैरल पब. समूह, पीपी 1995 - 183

[4] मार्गोट एल. टोर्बर्ट, "नृत्य जैज शिक्षण", मार्गोट टोर्बर्ट, 2000, ISBN 0-9764071-0-8, 9780976407102

[5] रॉबर्ट कोहन, "नृत्य कार्यशाला", गैया पुस्तकें लिमिटेड, 1989, ISBN 0-04-790010-5