क्लाइस्ट्रॉन

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज
उच्च-शक्ति का क्लाइस्ट्रॉन

क्लाइस्ट्रॉन (Klystron) एक प्रकार की निर्वातित एलेक्ट्रॉन-नलिका है जिसके अन्दर सूक्ष्मतरंग क्षेत्र में विद्युतचुम्बकीय उर्जा उत्पन्न करने अथवा इसका प्रवर्धन करने के लिये इलेक्ट्रान-किरणपुंज का वेग-मॉडुलेशन किया जाता है। यह वेग-मॉडुलित एलेक्ट्रान-किरणपुंज एक कोटर अनुनादी (resonant cavity) में प्रवेश करके कोटर के अन्दर इष्ट सूक्ष्म तरंगावृत्ति पर दोलन कायम करता है। क्लाइस्ट्रॉन का उपयोग सूक्ष्मतरंग रिले जैसी अति-उच्च आवृत्ति वाली डिवाइसेस में, रेडार प्रेषित्र (RADAR transmitter) तथा रेडार अभिग्रहियों (RADAR receiver) में किया जाता है।

बाहरी कड़ियाँ[संपादित करें]