कैथरीन प्रथम (रूस की साम्राज्ञी)

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज
कैथरीन प्रथम

कैथरीन प्रथम (रूसी: Екатерина I Алексеевна; Yekaterina I Alekseyevna, जन्मजात पोलिश: Marta Helena Skowrońska, Latvian: Marta Elena Skavronska, बाद में: Marfa Samuilovna Skavronskaya) (१६८४-१७२७ ई.) रूस की जारीना (साम्राज्ञी) थी जिसने रूस पर १७२५ से लेकर अपनी मृत्युपर्यन्त शासन किया। वह रूस के पीतर प्रथम की द्वितीय पत्नी थी।

परिचय[संपादित करें]

वह लिथूनिया निवासी किसान की बेटी थी। इसका नाम मार्था था। बचपन में ही पिता की मृत्यु हो जाने पर वह एक पादरी के यहां नौकरानी हो गई और एक स्वीडन निवासी से विवाह कर लिया। स्वीडन-रूस युद्ध के समय वह युद्धबंदी बनाई गई और रूसी राजकुमार मेंशिकाफ के हाथ बेच दी गई। मेंशिकाफ के घर रूस के जार पीतर, जो महान कहे जाते हैं, आते जाते थे। वे मार्था पर आसक्त हो गए और अपनी पत्नी यूडोक्सिया को तलाक दे कर उससे विवाह कर लिया और उसका नया नामकरण 'कैथरीन अलेक्जेयेव्ना' किया गया। कैथरीन पीतर की अनिवार्य सहयोगिनी बन गई और युद्धों में भी उसके साथ रही। जब कभी जार और उसके मंत्रियों में मतभेद होता तो वह मध्यस्थ होती थी।

१७२२ ई० में वह पीतर की उत्तराधिकारिणी बनाई गई और १७२४ में वह जारीना (साम्राज्ञी) घोषित की गई और पीतर की मृत्यु के बाद उसने शासन की बागडोर अपने हाथ में ली। पूर्णतया निपढ़ होने पर भी वह असाधारण बुद्धिमति, गंभीर और मृदु स्वभाव की थी और उसने योग्यतापूर्वक शासन किया। १६ मई, १७२७ को उसकी मृत्यु हुई।