केप्लर अंतरिक्ष यान

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज
निर्मित होते हुआ कॅप्लर अंतरिक्ष यान

कॅप्लर अंतरिक्ष यान (अंग्रेज़ी:Kepler spacecraft) अमेरिकी अंतरिक्ष अनुसन्धान संस्थान, नासा, का एक अंतरिक्ष यान है, जिसका काम सूरज से अलग किंतु उसी तरह अन्य तारों के इर्द-गिर्द ऐसे ग़ैर-सौरीय ग्रहों को ढूंढना है जो पृथ्वी से मिलते-जुलते हों।[1] कॅप्लर को ७ मार्च २००९ में रोकेट के ज़रिये अंतरिक्ष में भेजा गया था, जहाँ यह अब पृथ्वी की परिक्रमा कर रहा है और अन्य तारों पर अपनी नज़रें रखे हुए है। अनुमान है कि यह कम-से-कम ३.५ वर्ष तक अपना कार्य करेगा।

केपलर अंतरिक्ष दूरदर्शी[संपादित करें]

केपलर मिशन के अंतर्गत केपलर अंतरिक्ष दूरदर्शी पृथ्वी जैसे दिखने वाले ग्रहों और उनके सौरमण्डल की संभावनाओं का पता लगाता है। केपलर दूरदर्शी ने एक चक्रीय द्विआधारी तारक व्यवस्था (circumbinary star system) की खोज की है। इसके अंतर्गत दो तारे एक दूसरे का चक्कर लगा रहे हैं और एक उपग्रह इन दोनों के चारों ओर चक्कर लगा रहा है।[2] इस सौर मण्डल का नाम केप्लर-१६ बी और दोनों तारों के नाम क्रमशः ३४ बी और ३५ बी है।[3]

केपलर २२ बी[संपादित करें]

केपलर २२ बी एक सौर मण्डल के बाहर का ग्रह है। इसकी खोज केपलर अंतरिक्ष दूरदर्शी द्वारा की गयी है। यह ग्रह आवासीय क्षेत्र (habitant zone) में पाया गया है। केपलर मिशन के अंतर्गत यह पहला ग्रह है जो अपने सूर्य के आवासीय क्षेत्र में पाया गया है।[4] केपलर २२ बी ग्रह की कुछ प्रमुख विशेषताएँ इस प्रकार हैं-

  • पृथ्वी से ६०० प्रकाश वर्ष दूर।
  • पृथ्वी से २.४ गुना बड़ा।
  • २९० दिनों में अपने सूर्य का एक चक्कर पूरा करता है।
  • द्रव रूप में जल की संभावना।
  • औसत तापमान २२° सेंटीग्रेट होने का अनुमान[5]

इन्हें भी देखें[संपादित करें]

सन्दर्भ[संपादित करें]