उस्ताद ईसा

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज

उस्ताद ईसा (फ़ारसी: استاد عيسى) एक काल्पनिक वास्तुकार हैं, जिन्हें प्रायः ताजमहल का प्रधान वास्तुकार बताया जाता है। मूलरूप से उन्हें यातो फारसी या फिर तुर्क वास्तुकार बताया जाता है।

पूर्ण एवं विश्वस्त सूचना के अभाव में, कि किस को ताजमहल के रूपांकन का श्रेय दिया जाए; इससे की अफवाहें उडी़ं। इतिहासकार बताते हैं कि ब्रिटिश की उन्नीसवी शताब्दी में इस खूबसूरत स्मारक का किसी यूरोपीय वास्तुकार को श्रेय दिए जाने की उत्सुकता ने इस कहानी को बल दिया। स्थानीय लोगों से मिली सूचना के अनुसार, एक कारीगरों की फर्जी सूची भी बना कर दे दी गई, साथ ही पूरे एशिया भर से लाए गए सामान की सूची भी, जिससे कि अंग्रेज कोई यूरोपीय वास्तुकार को इस इमारत का झूठा श्रेय ना दे दें।[1][2]

हाल की शोध से ज्ञात हुआ है कि उस्ताद अहमद लाहौरी ही इसके सबसे उपयुक्त उम्मीदवार हैं, जिन्हें कि ताजमहल का प्रधान वास्तुकार बताया जा सके।[3][4][5]

टिप्पणी[संपादित करें]

  1. Koch, p.89
  2. Building Details of Taj Mahal
  3. UNESCO advisory body evaluation
  4. Asher, p.212
  5. Begley and Desai, p.65

सन्दर्भ[संपादित करें]

  • Asher, Catherine Ella Blanshard (English में) (Hardback). The New Cambridge History of India, Vol I:4 - Architecture of Mughal India (First published 1992, reprinted 2001,2003 ed.). Cambridge: Cambridge University Press. pp. 368. ISBN 0-521-26728-5. 
  • Begley, Wayne E.; Desai, Z.A. (English में) (Hardback). Taj Mahal - The Illumined Tomb. University of Washington Press. pp. 392. ISBN 978-0-295-96944-2. 
  • Koch, Ebba (English में) (Hardback). The Complete Taj Mahal: And the Riverfront Gardens of Agra (First ed.). Thames & Hudson Ltd. pp. 288 pages. ISBN 0-500-34209-1.