अवधेश प्रताप सिंह विश्वविद्यालय

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज

अवधेश प्रताप सिंह विश्वविद्यालय मध्य प्रदेश के रीवा में स्थित एक स्वायत्त विश्वविद्यालय है। इस विश्वविद्यालय का नाम कप्तान अवधेश प्रताप सिंह के नाम पर रखा गया है जो भारत के ख्यातनाम स्वतंत्रता संग्राम सेनानी थे।

यह विश्वविद्यालय सन 1968 में बनाया गया। इसे फरवरी 1972 में यूजीसी से इस मान्यता मिली। अवधेश प्रताप सिंह विश्वविद्यालय भारतीय विश्वविद्यालय संघ और सभी विश्वविद्यालयों के राष्ट्रमंडल एसोसिएशन के सदस्य है।

परिचय[संपादित करें]

विंध्य क्षेत्र के रीवा, सीधी, सिंगरौली, सतना, शहडोल, अनूपपुर और उमरिया जिले के 147 शासकीय और अशासकीय महाविद्यालय से संबद्धता प्राप्त है। इस विश्वविद्यालय से 2 आयुर्वेद महाविद्यालय भी संबद्धता रखते है। सर्वसुविधायुक्त इस विश्वविद्यालय मे कुल 13 नियमित पाठ्यक्रम और लगभग 45 स्ववित्तीय पाठ्यक्रम चलाये जा रहे हैं। सुनहरे भविष्य का सपना संजो कर अवधेश प्रताप सिंह विश्वविद्यालय में देश-विदेश के लगभग 3 हजार छात्र-छात्राएं प्रतिवर्ष अध्य्यन करने आते हैं।

शहर से लगभग 5 किलोमीटर दूरी पर यह विशाल भूखण्ड पर स्थापित है। यहाँ प्रशासनिक भवन के अलावा विश्वविद्यालय परिसर मे पर्यावरण, जीव विज्ञान, भौतिक विज्ञान, मानविकी, अम्बेडकर भवन, हिन्दी विभाग, एम.बी.ए विभाग, आदिवासी केन्द्र, कम्प्यूटर केन्द्र, विक्रम अंतरिक्ष विभाग, भौतिक केन्द्र, यूएसआईसीए केन्द्रीय पुस्तकालय, छात्रावास, गेस्ट हाउस, आडिटोरियम, स्टेडियम, स्टाफ क्वार्टर, हाॅल हाॅस्टल, बैक, रोजगार ब्यूरो, भारतीय डाक, चिकित्सा डिस्पेंसरी, मौसम विज्ञान वेधशाला मौजूद है। इसके अलावा कैंटीन, जीराॅक्स, एस.टी.डी और शाॅपिंग सेन्टर, जिमनेजि़यम हाॅल, योगा हाॅल, शिव मंदिर और पार्क स्थित है।

प्रमुख पाठ्यक्रम[संपादित करें]

नियमित[संपादित करें]

पर्यावरण विज्ञान, फिज़िक्स, कम्प्यूटर सांईस, कमेस्ट्री, मैथ एण्ड स्टेटिक्स, पीएसलाजी, इतिहास, कल्चर एण्ड आर्ट, बिजनेस इकोनामिक्स, जे.एन.सेंटर पाॅलिसी रिसर्च, इंग्लिश, हिन्दी, रूसी भाषा, मास्टर आॅफ बिजनेस एडमनिस्ट्रेशन, अडल्ट एजुकेशन और सेल्फ सपोर्ट कोर्स सहित कुल 42 कोर्स हैं जिसमें बी.पी.एड, बी.सी.ए, बी.बी.ए, बी.ए.एल.एल.बी, एम.बी.ए. एम.बी.ए.एचआरडी, एमबीए टूरिज़म, एम.एस.सी., एम.एस.डब्ल्यू, एम.पी.एड, एम.फिल, एम.काम जैसे कई कोर्स संचालित है।

पत्राचार पाठ्यक्रम[संपादित करें]

इसके अलावा कई पत्राचार पाठ्यक्रम के डिग्री, डिप्लोमा कोर्स संचालित है। साथ ही अन्य कई नये कोर्स विश्वविद्यालय शुरू करने जा रहा है, जिसमें बी.एस.सी. नर्सिंग, बी.काम. अाॅनर्स एम.जे. आदि है।

बाहरी कड़ियाँ[संपादित करें]