अल असकरी मज़ार

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज
मस्जिद अगले और प्रथम बम विस्फ़ोट के बाद।

अल असकरी या असकरिय्या मज़ार/मस्जिद (अरबी: مرقد الامامين علي الهادي والحسن العسكري, मर्क़द अल-इमामाय्न `अली ल-हादी वा अल-हस्सन अल-`अस्करी) एक शिया मुस्लिम धर्मात्मा मस्जिद है जो बग़दाद से 125 कीमी दूर इराक़ी शहर सामर्रा में है। यह एक विश्व के सबसे महत्वपूर्ण शिया मस्जिद है, जिसका निर्माण सन् 944 ई में हुआ।[1] इसका एक गुम्बज़ 2006 में एक बम विस्फ़ोट में नष्ट हो गया और इसकी दो शेष मीनारें जून 2007 में एक अन्य बम विस्फ़ोट में नष्ट हुई, जिस से शिया मुसलमानों में व्यापक अप्रसन्नता हुई।

इन्हें भी देखें[संपादित करें]

संदर्भ[संपादित करें]

  1. नाइट, सैम (2006). "Al-Askariya shrine: 'Not just a major cathedral'". टाइम्सऑनलाइन.को.यूके. http://www.timesonline.co.uk/article/0,,7374-2053168,00.html. अभिगमन तिथि: 2006.