1948 अरब-इजरायल युद्ध

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search
1948 अरब-इजरायल युद्ध
1947-1949 फिलिस्तीन युद्ध का भाग
Raising the Ink Flag at Umm Rashrash (Eilat).jpg
Captain Avraham "Bren" Adan raising the Ink Flag at Umm Rashrash (a site now in Eilat), marking the end of the war
तिथि 15 मई 1948 – 10 मार्च 1949[a]
(9 माह, 3 सप्ताह और 2 दिन)
स्थान पूर्व ब्रिटिश फ़लस्तीन का फ़िलिस्तीन, सिनाई प्रायद्वीप, दक्षिणी लेबनान
परिणाम
  • इजरायल की जीत
  • जार्डन की आंशिक जीत[1][2]
  • फिलिस्तीनी अरब की हार
  • मिस्र की हार
  • अरब लीग रणनीतिक विफलता
  • 1949 आयुध समझौते
क्षेत्रीय
बदलाव
इज़राइल इसके द्वारा आवंटित क्षेत्र को रखता हैविभाजन क्षेत्र अरब राज्य को आवंटित क्षेत्र का ~ ६०% कब्जा करता है जॉर्डन शासन of वेस्ट बैंक, मिस्र के कब्जे of the गाजा पट्टीइजरायल ने [फिलिस्तीन के लिए [संयुक्त राष्ट्र विभाजन योजना] ] को इसे आवंटित किया है और ; [[[वेस्ट बैंक के जॉर्डन के ]] [[]], मिस्र के गाजा पट्टी पर कब्जे [[]]
योद्धा
Flag of Israel.svg इज़राइल

26 मई 1948 से पहले: अर्धसैनिक समूह :


26 मई 1948 के बाद:
Badge of the Israel Defense Forces.svg इजरायल डिफेंस फोर्सेस


विदेशी स्वयंसेवक:
महल

साँचा:देश आँकड़े अरब लीग:

Irregulars:
साँचा:देश आँकड़े All-Palestine Holy War Army
Arab Liberation Army (bw).svg Arab Liberation Army


Foreign volunteers:
Muslim Brotherhood
Flag of Pakistan.svg पाकिस्तान
Sudan[7]

सेनानायक
इज़राइल डेविड बेन-गुरियन
इज़राइल यिसरेल गैलीली
इज़राइल योंगोव डोरी
इज़राइल यिगेल याडिन
इज़राइल मिकी मार्कस 
इज़राइल यिगाल अलोन
इज़राइल यित्जाक राबिन
इज़राइल डेविड शाल्टिल
इज़राइल मोशे ददन
इज़राइल शिमोन एविडान
इज़राइल मोशे कार्मेल
इज़राइल यित्ज़ाक सदेह
साँचा:देश आँकड़े Arab League अज़्ज़म पाशा
साँचा:देश आँकड़े मिस्र का राज्य King Farouk I
साँचा:देश आँकड़े Kingdom of Egypt Ahmed Ali al-Mwawi
साँचा:देश आँकड़े Kingdom of Egypt Muhammad Naguib
साँचा:देश आँकड़े Transjordan King Abdallah I
साँचा:देश आँकड़े Transjordan John Bagot Glubb
साँचा:देश आँकड़े Transjordan Habis Majali
साँचा:देश आँकड़े Kingdom of Iraq Muzahim al-Pachachi
साँचा:देश आँकड़े Syrian Republic Husni al-Za'im
साँचा:देश आँकड़े All-Palestine Haj Amin al-Husseini
Flag of Hejaz 1917.svg Hasan Salama 
Arab Liberation Army (bw).svg Fawzi al-Qawuqji
शक्ति/क्षमता
Israel: 29,677 (initially)
117,500 (finally)[Note 1]
Egypt: 10,000 initially, rising to 20,000[कृपया उद्धरण जोड़ें]
Transjordan: 7,500–10,000[9][10]
Iraq: 2,000 initially,[9] rising to 15,000–18,000[कृपया उद्धरण जोड़ें]
Syria: 2,500[कृपया उद्धरण जोड़ें]–5,000[9]
Lebanon: 436[11]
Saudi Arabia: 800–1,200 (Egyptian command)
Yemen: 300[कृपया उद्धरण जोड़ें]
Arab Liberation Army: 3,500–6,000.
Total:
13,000 (initial)
51,100 (minimum)
63,500 (maximum)[Note 2]
मृत्यु एवं हानि
6,373 killed (about 4,000 fighters and 2,400 civilians)[12] Arab armies:
3,700–7,000 killed
Palestinian Arabs:
3,000–13,000 killed (both fighters and civilians)[13][14]


1948 अरब-इज़राइल युद्ध 1947-49 फिलिस्तीन युद्ध का दूसरा और अंतिम चरण था। यह औपचारिक रूप से 14 मई 1948 की आधी रात को फिलिस्तीन के लिए ब्रिटिश जनादेश के अंत के बाद शुरू हुआ; इज़राइल की स्वतंत्रता की घोषणा उस दिन पहले ही जारी कर दी गई थी, और 15 मई की सुबह से अरब राज्यों के एक सैन्य गठबंधन ने ब्रिटिश फिलिस्तीन के क्षेत्र में प्रवेश करना शरू कर दिया था।

1947-49 फिलिस्तीन युद्ध की पहली मौत 30 नवंबर 1947 को यहूदियों को ले जा रही दो बसों की घात लगाकर आक्रमण के दौरान हुई थी। [15] 1917 के बालफोर घोषणा और 1920 के फिलिस्तीन के ब्रिटिश जनादेश के निर्माण के बाद से अरब और यहूदियों के बीच और उन दोनों और ब्रिटिश सेना के बीच तनाव और संघर्ष होता रहता था। ब्रिटिश नीतियों के कारण अरब और यहूदियों दोनों असंतुष्ट थे। फिलिस्तीन में अरब का विरोध 1936 से 1939 में विकसित हुआ, जबकि यहूदी प्रतिरोध फिलिस्तीन में यहूदी विद्रोह 1944 से 1947 में विकसित हुआ। 1947 से चल रहे यह तनाव 29 नवंबर 1947 को गृह युद्ध में बदल गए जो को संयुक्त राष्ट्र द्वारा फिलिस्तीन के विभाजन योजना को अपनाने के बाद शरू हो गए, जिसमें फिलिस्तीन को एक अरब राज्य, एक यहूदी राज्य और विशेष अंतर्राष्ट्रीय शासन व्यवस्था में विभाजित करने की योजना बनाई गई थी, जिसमें जेरूसलम और बेथलहम शहरों को शामिल किया गया था। ।

15 मई 1948 को, यह गृह युद्ध इज़राइल और अरब राज्यों के बीच संघर्ष में तब्दील हो गया, जो की पिछले दिन इजरायल की स्वतंत्रता की घोषणा के बाद शरू हुआ। मिस्र, ट्रांसजॉर्डन, सीरिया और इराक से अभियान बल फिलिस्तीन में प्रवेश करने लगे। [16] इन हमलावर सेनाओं ने अरब क्षेत्रों पर अपना नियंत्रण कर लिया और तुरंत इजरायली सेना और कई यहूदी बस्तियों पर भी हमला कर दिया। [17][18][19] 10 महीने की ये लड़ाई ज्यादातर ब्रिटिश जनादेश क्षेत्र में, सिनाई के प्रायद्वीप और दक्षिणी लेबनान में हुए, इस अवधि में कई दर्दनाक घटनाए घटी। [20]

युद्ध के परिणामस्वरूप, इज़राइल राज्य ने उस क्षेत्र को नियंत्रित किया जिसे संयुक्त राष्ट्र महासभा प्रस्ताव 181 ने प्रस्तावित यहूदी राज्य के लिए घोषित किया था, और साथ ही 1947 के विभाजन योजना द्वारा प्रस्तावित अरब राज्य के क्षेत्र का लगभग 60 प्रतिशत। ] जिसमे जाफ़ा, लिडा, और रामले के क्षेत्र, गैलील, नेगेव के कुछ हिस्सों सहित, तेल अवीव-यरुशलम सड़क, पश्चिम यरुशलम की एक विस्तृत पट्टी, और वेस्ट बैंक के कुछ क्षेत्र शामिल थे। ट्रांसजार्डन ने पूर्व ब्रिटिश शासनादेश के शेष हिस्से पर नियंत्रण कर लिया, जिसे उसने हड़प लिया था और मिस्र की सेना ने गाजा पट्टी पर नियंत्रण कर लिया। 1 दिसंबर 1948 को जेरिको सम्मेलन में, 2,000 फिलिस्तीनी प्रतिनिधियों ने फिलिस्तीन और ट्रांसजॉर्डन के एकीकरण की आवाज उठाई जो की पूर्ण अरब एकता की दिशा में एक कदम बताया गया। [21] इस संघर्ष ने पूरे मध्य पूर्व में महत्वपूर्ण जनसांख्यिकीय परिवर्तन शुरू कर दिया। लगभग 700,000 फिलिस्तीनी अरब लोग इज़राइल बनने वाले क्षेत्र से अपने घरों से बाहर निकाल दिए गए या भाग गए, जो की फिलिस्तीनी शरणार्थी बन गए [22] जिसे वे अल-नकबा ("तबाही") के रूप में संदर्भित करते हैं। युद्ध के बाद के तीन वर्षों में, लगभग 700,000 यहूदियों ने इज़राइल में प्रवास किया, जिनमें से कई को मध्य पूर्व में अपने पिछले घर से निकाल दिया गया था। [23]


सन्दर्भ[संपादित करें]

  1. Anita Shapira, L'imaginaire d'Israël : histoire d'une culture politique (2005), Latroun : la mémoire de la bataille, Chap. III. 1 l'événement pp. 91–96
  2. Benny Morris (2008), p. 419.
  3. Oren 2003, p. 5.
  4. Morris (2008), p. 260.
  5. Gelber, pp. 55, 200, 239
  6. Morris, Benny (2008), 1948: The First Arab-Israeli War Archived 26 जून 2016 at the वेबैक मशीन., Yale University Press, p.205, New Haven, ISBN 978-0-300-12696-9.
  7. Morris, 2008, p. 332.
  8. Gelber (2006), p. 12.
  9. Micheal Clodfelter (2017). Warfare and Armed Conflicts: A Statistical Encyclopedia of Casualty and Other Figures, 1492–2015, 4th ed. McFarland & Company. पृ॰ 571. आई॰ऍस॰बी॰ऍन॰ 9780786474707.
  10. Tucker, Spencer (10 August 2010). The Encyclopedia of Middle East Wars: The United States in the Persian Gulf. ABC-CLIO. पृ॰ 662. आई॰ऍस॰बी॰ऍन॰ 9781851099481. मूल से 18 अक्तूबर 2017 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 5 October 2019.
  11. Hughes, Matthew (Winter 2005). "Lebanon's Armed Forces and the Arab-Israeli War, 1948–49". Journal of Palestine Studies. 34 (2): 24–41. डीओआइ:10.1525/jps.2005.34.2.024. अभिगमन तिथि 15 December 2019.
  12. सन्दर्भ त्रुटि: <ref> का गलत प्रयोग; politics नाम के संदर्भ में जानकारी नहीं है।
  13. सन्दर्भ त्रुटि: <ref> का गलत प्रयोग; laurens नाम के संदर्भ में जानकारी नहीं है।
  14. Morris 2008, pp. 404–06.
  15. Benny Morris (2008). 1948: A History of the First Arab-Israeli War. Yale University Press. पृ॰ 76. आई॰ऍस॰बी॰ऍन॰ 978-0300145243. मूल से 18 अक्तूबर 2017 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 20 दिसंबर 2019.
  16. David Tal, War in Palestine, 1948: Israeli and Arab Strategy and Diplomacy, p. 153.
  17. Benny Morris (2008), p. 401.
  18. सन्दर्भ त्रुटि: <ref> का गलत प्रयोग; morris2008p236 नाम के संदर्भ में जानकारी नहीं है।
  19. Zeev Maoz, Defending the Holy Land, University of Michigan Press, 2009 p. 4: 'A combined invasion of a Jordanian and Egyptian army started ... The Syrian and the Lebanese armies engaged in a token effort but did not stage a major attack on the Jewish state.'
  20. Rogan and Shlaim 2007 p. 99.
  21. Benvenisti, Meron (1996), City of Stone: The Hidden History of Jerusalem, University of California Press, ISBN 0-520-20521-9. p. 27
  22. सन्दर्भ त्रुटि: <ref> का गलत प्रयोग; refugees नाम के संदर्भ में जानकारी नहीं है।
  23. Morris, 2001, pp. 259–60.


सन्दर्भ त्रुटि: "lower-alpha" नामक सन्दर्भ-समूह के लिए <ref> टैग मौजूद हैं, परन्तु समूह के लिए कोई <references group="lower-alpha"/> टैग नहीं मिला। यह भी संभव है कि कोई समाप्ति </ref> टैग गायब है।
सन्दर्भ त्रुटि: "Note" नामक सन्दर्भ-समूह के लिए <ref> टैग मौजूद हैं, परन्तु समूह के लिए कोई <references group="Note"/> टैग नहीं मिला। यह भी संभव है कि कोई समाप्ति </ref> टैग गायब है।