हूर

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search

हूर या हूरी इस्लाम में ऐसी मान्यता है कि यदि खुदा की खिदमत में अपनी जिंदगी लगा दी जाये और उसी के लिए अपनी जान कुर्बान कर दी जाये तो जन्नत नसीब होती है। जन्नत वह स्थान है जहाँ मानव जीवन के रूप में होने वाले सभी कष्ट खत्म हो जाते हैं औऱ वहाँ सुन्दर स्त्रीयाँ भोग करने के लिए मिलती हैं जिन्हें हूर कहा जाता है। हिन्दू धर्म में स्वर्ग में मिलने वाली अप्सराओं जैसी ही कल्पना इस्लाम में हूर के रूप में की गई है।

यह भी देखें[संपादित करें]