हिमालय की पारिस्थितिकी

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज
जैवविविधता के लिये प्रसिद्द फूलों की घाटी का एक दृश्य

हिमालय की पारिस्थितिकी अथवा हिमालयी पारितंत्र जो एक पर्वतीय पारिस्थितिक तंत्र का उदाहरण है, भारत और विश्व के कुछ विशिष्ट पारितंत्रों में से एक है।[1] हिमालय पर्वत तंत्र विश्व के सर्वाधिक नवीन और विशाल पर्वतों में से एक है। ध्रुवीय प्रदेशों के आलावा यह विश्व का तीसरा सबसे बड़ा हिम-भण्डार है और यहाँ करीब 1500 हिमनद पाए जाते हैं जो हिमालय के लगभग 17% भाग को ढंके हुए हैं।[2] हिमालय पर्वत पर यहाँ की विशिष्ट जलवायवीय और भूआकृतिक विशेषताओं की वजह से कुछ विशिष्ट पारिस्थिक क्षेत्र पाए जाते हैं जो अपने में अद्वितीय हैं।[3] उदाहरण के लिये फूलों की घाटी एक ऐसा ही जैवविविधता का केन्द्र है। पूर्वी हिमालय में वर्षा की अधिकता और अपेक्षा कृत नम जलवायु ने एक अलग ही प्रकार का पारितंत्र विकसित किया है। अपने विविध जीव-जंतुओं और वनस्पतियों की जैवविविधता और इसके भौगोलिक प्रतिरूप के कारण हिमालयी पारितंत्र एक महत्वपूर्ण स्थान रखता है।

नवीन वलित पर्वत होने के कारण अभी भी हिमालय क्षेत्र में भूअकृतिक स्थिरता नहीं आयी है और यह भूकम्पीय रूप से संवेदन शील तथा भूस्खलन से प्रभावित क्षेत्र में आता है। जलवायवीय रूप से भी यहाँ के हिमनदों के निवर्तन कि पुष्टि की गई है जो कि मानव द्वारा परिवर्धित जलवायु परिवर्तन का परिणाम माना जाता है।[4] उपरोक्त कारणों से हिमालयी पारिस्थितकी अपने परिवर्तनशील होने के कारण भी महत्वपूर्ण है।

इस विशिष्ट प्राकृतिक पर्यावरण में मनुष्य की क्रियाओं द्वारा एक अनन्य प्रकार का मानव पारितंत्र भी विकसित हुआ है। हिमालय की मानव पारिस्थितिकी में हुए अध्ययन यह साबित करते हैं की यहाँ मनुष्य और प्रकृति के बीच की अन्योन्याश्रयता ने एक विशिष्ट मानव पारिस्थितिकी निर्मित की है और हिमालय के परिवर्तनशील स्थितियों के कारण इस पर निर्भर मानव जनसंख्या भी बदलावों के प्रति संवेदनशील है। एक रिपोर्ट के मुताबिक हिमालयी पारितंत्र एशिया के 1.3 बिलियन लोगों की आजीविका पर प्रभाव डालता है।[5]

नियंत्रक कारक[संपादित करें]


हिमालयी वन[संपादित करें]


इन्हें भी देखें[संपादित करें]

सन्दर्भ[संपादित करें]

  1. खुल्लर, डी आर, भारत के प्रमुख पारिस्थितिक तंत्र, भूगोल मुख्य परीक्षा, गूगल पुस्तक (अभिगमन तिथि 24-07-2014)
  2. The Himalayas - The Disappearing Glacier: Climate Change and Himalayan Ecology (अभिगमन तिथि 24-07-2014)
  3. Himalayan Eco-system NATIONAL MISSION FOR SUSTAINING THE HIMALAYAN ECO-SYSTEM का प्रतिवेदन, विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी विभाग, भारत सरकार
  4. The Himalayas - The Disappearing Glacier: Climate Change and Himalayan Ecology (अभिगमन तिथि 24-07-2014)
  5. Himalayan Eco-system pp. 7 NATIONAL MISSION FOR SUSTAINING THE HIMALAYAN ECO-SYSTEM का प्रतिवेदन, विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी विभाग, भारत सरकारपृष्ठ संख्या 7,