हिन्दी वर्णमाला

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज

मूल हिन्दी वर्णमाला प्रमुखतः दो भागों में विभाजित है: स्वर और व्यंजन

नवीन हिन्दी वर्णमाला

स्वर अ आ इ ई उ ऊ ए ऐ ओ ऑ औ अं मात्राएँ :- [ - ा ि ी ु ू े ै ो ॉ ौ ं ँ ् ृ ] व्यंजन [ क ख ग घ च छ ज झ ट ठ ड ढ ण त थ द ध न प फ ब भ म य र ल व ह स ष ड़ ढ़ ]

अप्रचलित [ रिशी ड. ञ श ग्य. ^ ृ श्र क्श ]

स्वर[संपादित करें]

अ आ इ ई उ ऊ ऋ ए ऐ ओ औ

स्वर दो प्रकार के होते हैं:

  1. पूर्ण स्वर - बाद कोई दूसरा स्वर या व्यंजन आ सकता है जैसे आ, ई इत्यादि।
  2. लघु स्वर (मात्रा) - यह मात्रा के रूप में प्रयुक्त होते हैं जैसे ा, ि इत्यादि।

व्यंजन[संपादित करें]

व्यंजन स्वरो को मिलाकर बनतें है, यानी की इनके उच्चारण में स्वर समाहित होते हैं, जैसे क्+अ=क।

क ख ग घ ङ

च छ ज झ ञ

ट ठ ड ढ ण

त थ द ध न

प फ ब भ म

य र ल व

श ष स ह