हित द्वंद

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज

हित द्वंद (conflict of interest) ऐसे न्याय-विरुद्ध या अनौचित्य की परिस्थिति होती है जिसमें कोई व्यक्ति या संगठन एक से अधिक हितों या ध्येयों को प्राप्त करने में लिप्त हो जिनमें आपसी टकराव है। भ्रष्टाचार अक्सर हित द्वंद की परिस्थितियों में जन्म लेता है, जब कोई सरकार या संस्था किसी व्यक्ति को किसी सामूहिक हित-प्राप्ति के कार्यों में निर्णय लेने का अधिकार दे और वह व्यक्ति इन अधिकारों का प्रयोग किसी व्यक्तिगत हित-सिद्धी के लिये करे।[1][2]

इन्हें भी देखें[संपादित करें]

सन्दर्भ[संपादित करें]

  1. Acocella, N. and Di Bartolomeo, G. and Piacquadio, P.G. [2009], ‘Conflict of interest, (implicit) coalitions and Nash policy games’, in: ‘Economics Letters’, 105: 303-305.
  2. "Universal's English - Hindi Legal Dictionary: विधि शब्दावली, Dansingh Suganchand Chaoudhary and Prof. Praveen Kumar Dansingh Choudhary, Universal Law Publishing, 2012, ISBN 9788175348752