हाइपरसोनिक प्रौद्योगिकी प्रदर्शक वाहन

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search
हाइपरसोनिक प्रौद्योगिकी प्रदर्शक वाहन
HSTDV
ILA Berlin 2012 PD 018.JPG
हाइपरसोनिक प्रौद्योगिकी प्रदर्शक वाहन मॉडल
प्रकार उड़ान प्रदर्शक
उत्पादक रक्षा अनुसंधान और विकास संगठन[1]
स्थिति विकासाधीन
प्राथमिक उपयोक्ता भारतीय सशस्त्र सेना

हाइपरसोनिक प्रौद्योगिकी प्रदर्शक वाहन (Hypersonic Technology Demonstrator Vehicle या HSTDV) एक मानव रहित इस्क्रेमजेट प्रदर्शन विमान है। इसे हाइपरसोनिक गति उड़ान के लिए विकसित किया जा रहा है। इसका विकास रक्षा अनुसंधान और विकास संगठन द्वारा किया जा रहे हैं। [2]

परिचय[संपादित करें]

भारत हाइपरसोनिक क्रूज मिसाइल के आगे के विकास और उड़ान परीक्षण के रूप में एक महत्वाकांक्षी योजना पर जोर दे रहा है।

इसके लिए रक्षा अनुसंधान और विकास प्रयोगशाला ने हाइपरसोनिक प्रौद्योगिकी प्रदर्शक वाहन ( HSTDV) को बनाने का इरादा किया है जो एक ठोस रॉकेट प्रक्षेपण बूस्टर का उपयोग कर 20 सेकंड के लिए स्वायत्त सक्रेमजेट उड़ान प्राप्त करेगा।अनुसंधान भारत के पुन: प्रयोज्य प्रक्षेपण वाहनों में दिलचस्वी के बारे में भी बताता है।इस उड़ान में अंतिम लक्ष्य मैक 6.5 की गति तथा 32.5 किमी ( 20 मील) की ऊंचाई तक पहुँचने का हैं।

प्रारंभिक उड़ान परीक्षण का उद्देश्य मान्य वायुगतिकी का वाहन, इसके थर्मल गुण और सक्रेमजेट इंजन प्रदर्शन है।

इन्हें भी देखें[संपादित करें]

सन्दर्भ[संपादित करें]

  1. "Hypersonic Technology Demonstrator Vehicle".
  2. T. S. Subramanian (9 May 2008). "DRDO developing hypersonic missile". द हिन्दू. Chennai, India. अभिगमन तिथि 11 March 2012.