हरिवर विप्र

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search

हरिवर विप्र असमिया के सबसे प्राचीन साहित्यकारों में से हैं। वे कामतापुर के राजा दुर्लभ नारायण (१४वीं शताब्दी) के आश्रय में रहे। उन्होने बब्रुबहनर युध, ताम्रध्वजर युध, आदि ग्रन्थों की रचना की।