हरविलास शारदा

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search

हरबिलास शारदा (1867-1955) एक शिक्षाविद, न्यायधीश, राजनेता एवं समाजसुधारक थे। वे आर्यसमाजी थे। इन्होने सामाजिक क्षेत्र में वैधानिक प्रक्रियाओं के क्रियान्यवन में महत्वपूर्ण भूमिका अदा की। इनके अप्रतिम प्रयासों से ही 'बाल विवाह निरोधक अधिनियम, १९३०' (शारदा ऐक्ट) अस्तित्व में आया।

जीवन परिचय[संपादित करें]

उनका जन्म ८ जून १८६७ को अजमेर में हुआ। उनके पिता हरनारायण शारदा शासकीय महाविद्यालय, अजमेर में पुस्तकालयाध्यक्ष थे। [1]

सन्दर्भ[संपादित करें]