हंबली

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search

हंबली सुन्नी इस्लाम की चार शाखाओं में से एक है और यह सुन्नी पंथ की सबसे छोटी शाखा है। नामकरण ईराक के इस्लामी विद्वान अहमद इब्न हंबल के नाम पर हुआ है[1] जिनके शिष्यों ने इसे प्रचलित किया। सुन्नी पंथ कि अन्य चार शाखायें हनफ़ी, मालिकी और शफ़'ई हैं। विभाजन का मूल आधार अलग-अलग फ़िक्हों (न्यायशास्त्र) का अनुसरण है।

मोरक्को, अल्जीरिया, माली, कांगो, लीबिया, नाइजर, मध्य पूर्व और कई अफ्रीकी देशों में मुसलमान इमाम हंबल के फ़िक़ह पर ज़्यादा अमल करते हैं और वे अपने आपको हंबली कहते हैं।

मोरक्को की सरकारी शरीयत इमाम हंबल के धार्मिक क़ानूनों पर आधारित है। उनके अनुयायियों का कहना है कि उनका बताया हुआ तरीक़ा हदीसों के अधिक करीब है।

इन्हें भी देखें[संपादित करें]

सन्दर्भ[संपादित करें]

  1. Dr. Saif Ataya. Islam: Peace & Terrorism, Brief History, Principles and Beliefs. Lulu.com. पपृ॰ 76–. आई॰ऍस॰बी॰ऍन॰ 978-1-312-96421-1.