स्वामी इन्द्रवेश

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search

स्वामी इन्द्रवेश (१९३७ - १२ जून २००६) सामाजिक कार्यकर्ता, आर्य समाज के नेता एवं सांसद थे। उन्होने शिक्षा के क्षेत्र में उल्लेखनीय कार्य किया। आर्यसमाज में निश्चय ही उनसे अधिक विद्वान, मनीषी, वाक्चातुर्य में निपुण, साहित्य रचयिता, वेदभाष्यकार, शास्त्रार्थ महारथी, कुशल राजनीतिज्ञ, महावक्ता, संगठन में वर्चस्वी नायक कोई भले रहा हो जिसने आर्यसमाज के कीर्तिध्वज को व्योम या क्षितिज पर लहराया हो और लोकैषणा के अन्तिम छोर को जा छूआ हो ; लेकिन स्वामी इन्द्रवेश जी को इस दृष्टि से मूर्धन्य माना जायेगा कि उन्होंने जीवन-भर चुनौतियों का सामुख्य किया, आँधियों को झेला, काँटों भरा रास्ता चुना, खुद को संघर्ष का पर्याय बनाकर जीवन में चरैवेति-चरैवेति के आदर्श को मूर्तिमत किया।

जीवनी[संपादित करें]

स्वामी इन्द्रवेश का जन्म हरियाणा के सन्दना गाँव में सन् १९३७ में हुआ था। बचपन में ही वे स्वामी दयाननद सरस्वती के विचारों से प्रभावित हुए। वे झझर के गुरुकुल में स्वामी ओमानन्द सरस्वती के शिष्य थे। आचार्य बनने के बाद वे वहीं शिक्षण कार्य करने लगे।

बाहरी कड़ियाँ[संपादित करें]