स्वतः उत्सर्जन

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search

स्वतः उत्सर्जन (Spontaneous emission) वह प्रक्रम है जिसमें कोई क्वान्टमयांत्रिक प्रणाली (परमाणु, अणु या परमाणु के भीतर के कण) किसी उत्तेजित अवस्था से कम ऊर्जा की अवस्था में लौटते हैं तथा इस क्रिया में फोटॉन उत्सर्जित करते हैं। हमारे आसपास जो अधिकांश प्रकाश है, वह स्वतः उत्सर्जन से ही निकली हुई है। यदि परमाणु या अणु को ऊष्मा के बजाय किसी अन्य विधि द्वारा उत्तेजित किया जाता है तो इसे संदीप्ति (luminescence) कहा जाता है।

इन्हें भी देखें[संपादित करें]