स्वतःज्वलनशीलता

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search
प्लूटोनियम के सतह पर बने हाइड्राइड एवं ऑक्साइड की परतें स्वतःज्वलनशील होतीं हैं। इस कारण, कुछ स्थितियों में, प्लूटोनियम, अम्बर की तरह भी दिख सकता है।

स्वतःज्वलनशील पदार्थ ( pyrophoric substance) वे पदार्थ हैं जो वायु के सम्पर्क में आते ही 54 °C से कम ताप पर (गैसों के लिए) या वायु के सम्पर्क में आने के ५ मिनट के भीतर (द्रवों और ठोसों के लिए) अपने-आप (स्वतः) जल उठते हैं। उदाहरण- आइरन सल्फाइड तथा प्लुटोनियम एवं यूरेनियम आदि (चूर्ण रूप में या पतले-पतले स्लाइस के रूप में)।

सन्दर्भ[संपादित करें]