स्पेन की संस्कृति

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज
स्पेन के संस्कृति और रिति- रिवाज बहुत सम्पन्न और सूक्ष्म हैं। स्पेन के संस्कृति और रिति- रिवाजों ने इस इबेरियन राष्ट्र मे आने वाले पर्यट्कों कि भीड़ को आकर्शित करने में एक प्रमुख भुमिका निभायी हैं। स्पेन कि हर क्षेत्र कि अपनी अनुठी परंपराएं हैं, पर पुरे दुनिया में प्रचलित प्रथाएं प्रतिशठित प्रतीकों के रुप में सामने आती हैं। सांड की लड़ाई स्पेन मे सब्से प्रमुख प्रथाओं में से एक हैं। प्राचिन ग्लडियेटोर खेल जहाँ मनुष्य को सांड से लड़ाई कराया जाता था, उस खेल का उत्क्रांतित हैं। पुरानी पीढ़ी यह खेल को अपनी स्पेनिश संस्कृति का मुख्य हिस्सा मानते थे लेकिन युवा पीढ़ी इस खेल को अपनाने से मना करती हैं और इसका सख्त आलोचना करती हैं। पशु कर्यकर्ता ने इस खेल का अनैतिक और क्रुर घोशित कर दिया हैं। फिर भी यह खेल स्पेनिश संस्कृति का प्रमुख हिस्सा हैं। सांड लड़ाई स्पेन के कई गाँव और नगरों मे प्रसिद्ध हैं पर सब्से प्रमुख सांडअखडा मद्रिद, सेविल्ल, रोन्डा, वलेन्सिया, बार्सिलोना और पम्पेलोना मे स्थित हैं। ला सियेस्ता एक और प्रमुख स्पेनिश परंपराओं में से एक हैं। आनन्द और काम को सन्तुलित रखने के लिये , स्पेनिश लोग ला सियेस्ता का आयोजन करते हैं। जब छात्र और कर्मचारी दोपहर के कुछ घंटो के लिये घर जाते है तब वह आराम करते हैं और परिवार के साथ बड़ा भोजन का आनन्द लेते हैं। कई व्यवसाय दोपहर को कुछ घंटो के लिये बन्द हो जाते हैं। लेकिन २१वें दशक मे यह नहीं हो पाता हैं। बड़े-बड़े शेहरों में काम से फुरसत किसी को भी नहीं मिलता। लेकिन आज भी स्पेन के छोटे शेहरों और गाँवो में यह परमपरा विक्सित हैं। तापास स्पेनिश संस्कृति का मुख्य भाग हैं। तापास हर स्पेनिश भोजन का मुख्य हिस्सा होता हैं। तापा का मतलब है भोजन का छोटा हिस्सा। इसे ज्यादातर भोजन के पहले खाया जाता हैं। पुराने ज़माने में स्पेन का सड़क बहुत खराब था । खराब सड़क कि वजह से यत्रियों को बहुत परेशनियों क सामना करना पड़ता था। तब वह अपने यात्रा के समय कुछ सराय में खाना खा लेते थे। उस भोजन को तापास कहा जाता था। पूरे स्पेन में कई तापास प्रतियोगिताओं हैं, लेकिन केवल एक राष्ट्रीय तापास प्रतियोगिता हैं, जो हर साल नवंबर में मनाई जाती हैं। स्पेन में खेल और मनोरंजन बहुत लोकप्रिय हैं। सांड लड़ाई के इलावा फुटबॉल और बास्केटबॉल बहुत प्रसिद्ध हैं। स्पेनिश फुटबॉल दुनिया मे बहुत प्रासिद्ध हैं। उन्होने कई बार फीफा विश्व कप जीता हैं। १९५० तक फुटबॉल ने सांड लडाई को लोकप्रियता में मात दे दी थी। स्पेन में साल्सा (नृत्य) भी बहुत प्रसिद्ध हैं। साल्सा एक तरह का नृत्य रुप हैं। फ्लामेन्को भी स्पेन में बहुत प्रसिद्ध् हैं। फ्लैमेन्को एक कला-रूप हैं, जो दक्षिणी स्पेन के समुदायों के विभिन्न लोककथाओं की संगीत परंपराओं पर आधारित हैं। ला टोमाटिना, फ्रेंको सदी के क्रुर शासन के विरुध अपने विरोध दिखाने का एक उत्सव हैं। यह पर्व गर्मियों मे मनाया जाता है जब टमाटर फसल का उत्पादन होता हैं। इसे स्पेन के वालेंसिया के बुनोल में मानाया जाता हैं। यह बहुत बड़ा दिन होता है जहाँ लोग सड़क पर टमाटर से खेलकर मनाते हैं। यह पहले सिर्फ स्पेन के पुर्वी में मनाया जाता था। लेकिन अब स्पेन के कई हिस्सों से लोग यह पर्व मनाने आते हैं ।