स्त्री (2018 फ़िल्म)

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search
स्त्री
निर्देशक अमर कौशिक
निर्माता दिनेश विजन
राज निदिमोरु और कृष्णा डीके
लेखक सुमित अरोड़ा
(संवाद)
पटकथा राज निदिमोरु
कृष्णा डीके
अभिनेता राजकुमार राव
श्रद्धा कपूर
संगीतकार गाने:
सचिन-जिगर
स्कोर:
केतन सोधा
छायाकार अमलेंद्र चौधरी
संपादक हेमांति सरकार
स्टूडियो मैडॉक फिल्मस्
डी2आर फिल्मस्
वितरक एए फिल्मस्
प्रदर्शन तिथि(याँ)
  • 31 अगस्त 2018 (2018-08-31)
देश भारत
भाषा हिन्दी
कुल कारोबार अनुमानित 42.04 करोड़[1]

स्त्री, अमर कौशिक द्वारा निर्देशित 2018 की एक भारतीय हास्य-डरावनी फ़िल्म है, जिसके निर्माता दिनेश विजन और राज निदिमोरु और कृष्णा डीके है और डी2आर फिल्म्स के सहयोग से मैडॉक फिल्म्स के बैनर के तहत बनाई गई है।[2] यह फ़िल्म भारतीय शहरी किंवदंती, नाले बा, पर आधारित है, जोकि एक चुड़ैल के बारे में है जो रात में लोगों के दरवाजे पर दस्तक देती थी।[3] इस फ़िल्म में राजकुमार राव और श्रद्धा कपूर के मुख्य भुमिका के साथ , अपारशक्ति खुराना, अभिषेक बनर्जी और रामकृष्ण धाकड़, ने भी इस फिल्म में भूमिका निभाई हैं। फिल्म को 31 अगस्त 2018को इस फ़िल्म का प्रदर्शन किया गया था।[4] और इसका दूसरा भाग अभी निर्माणाधीन है।[5]

पटकथा[संपादित करें]

फिल्म की कहानी मध्य प्रदेश के चंदेरी नामक स्थान पर आधारित है, जहाँ त्यौहार के दौरान एक चुड़ैल, जिसे लोग स्त्री कहकर पुकारते है, जो सिर्फ पुरुषों को गायब करती है, स‍िर्फ उनके कपड़े रह जाते हैं। उससे बचने के लिये लोग अपने घर के बाहर "ओ स्त्री कल आना" लिखते है।

विक्की (राजकुमार राव) चंदेरी गाँव में रहने वाला एक दर्जी है, जिसकी अपनी एक कपड़े सिलने की दुकान है। वो अपने दोस्त बिट्टू (अपारशक्ति खुराना) और जना (अभिषेक बनर्जी) के साथ रहता है। उसे एक रहस्यमय अनाम लड़की (श्रद्धा कपूर) से प्यार हो जाता है। जिसके रहस्यमय व्यवहार के कारण विक्की के दोस्त उसे ही स्त्री मानने लगते है। इस बीच विक्की का दोस्त जना भी गायब हो जाता है। और उसे बचाने के लिये वो चंदेरी के रहने वाले रुद्र (पंकज त्रिपाठी) के पास आते है। और वे लोग उसे खोजते हुए भुतिया महल पहुंचते है, जहां विक्की का सामना स्त्री से होता है। और उसे बचाने उसकी प्रेमिका आ जाती है। जिससे उन्हें पता चलता है कि स्त्री कोई और है। इसी बीच जना वापस आ जाता है लेकिन उसका व्यवहार बदल जाता है। अगली रात शहर के कई और लोग गायब हो जाते है। जिन्हें बचाने के लिये वे लोग एक पुराने किताब, जिसमें स्त्री के बारे में लिखा था, के लेखक शास्त्री (विजय राज) के पास जाते है, जहाँ उन्हें पता चलता है कि केवल विक्की ही उसे मार सकता है। विक्की स्त्री को मारने की बजाय उसकी चोटी काट देता है जिससे उसकी शक्ति खत्म हो जाती है।

अगले दिन रहस्यमय लड़की विक्की से मिलकर बस से चली जाती है, लेकिन विक्की उसका नाम पूछना भूल जाता है। बाद में पता चलता है कि वह असल में जादू करने वाली रहती है और वह स्त्री के शक्ति के पीछे थी और वह विक्की की मदद से उसे प्राप्त करना चाहती थी। वह उसकी कटी चोटी को अपने मे मिला कर बस से गायब हो जाती है।

अगले वर्ष त्यौहार के समय स्त्री पुन: शहर पहुंचती है लेकिन शहर के द्वार में लगे उसके पुतले को देखती है जिसमें "ओ स्त्री रक्षा करना" लिखा देख कर वापस चली जाती है।

कलाकार[संपादित करें]

प्रदर्शन[संपादित करें]

26 जुलाई 2018 को फ़िल्म का ट्रेलर जारी किया गया था। फिल्म 31 अगस्त 2018 को दुनिया भर में प्रदर्शित की गई।


सन्दर्भ[संपादित करें]

  1. "Box Office: Worldwide collections and day wise break up of Stree". बॉलीवुड हंगामा (अंग्रेज़ी में). अभिगमन तिथि 3 सितम्बर 2018.
  2. "Rajkummar Rao to star opposite Shraddha Kapoor in a horror comedy". द इंडियन एक्सप्रेस (अंग्रेज़ी में). अभिगमन तिथि 7 जनवरी 2018.
  3. "Stree: इस शहर में मर्दों को उठा ले जाती थी 'चुड़ैल', जानिए स्त्री फिल्म की सच्ची कहानी". टाइम्स नाउ. टाइम्स नाउ डिजिटल. अभिगमन तिथि 31 अगस्त 2018.
  4. "राजकुमार की 'स्त्री' को ख़ूब श्रद्धा से देख रहे हैं दर्शक, पहले दिन ताबड़तोड़कमाई". जागरण. अभिगमन तिथि 31 अगस्त 2018.
  5. संजय मिश्रा. "कन्फर्म: अब बनेगी राजकुमार और श्रद्धा कपूर के साथ 'स्त्री 2'". नवभारतटाइम्स.कॉम. नवभारत टाईम्स. अभिगमन तिथि 3 सितम्बर 2018.

बाहरी कड़ियाँ[संपादित करें]