स्तंभास्थि

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search
रैकून की स्तंभास्थि.

स्तंभास्थि (अंग्रेजी:baculum) जिसे शिश्नास्थि या लिंग की हड्डी, भी कहा जाता है प्रायः सभी स्तनधारियों के शिश्न में पायी जाती है। परन्तु यह मनुष्यों, अश्व परिवार के सदस्यों (घोडा़, गधा आदि), शिशुधानी वाले जीवों (कंगारू), शशक परिवार के सदस्यों (खरगोश, खरहा) और लकड़बग्घों मे अनुपस्थित होती है। इसका प्रयोग संभोग के लिए किया जाता है और अलग प्रजातियों मे इसका आकार और आकृति अलग अलग होती है।

इसकी विशेषताओं का उपयोग कभी कभी प्रजातियों के बीच अंतर करने के लिए किया जाता है। बड़े उत्तरी मांसाहारी जानवरों जैसे वॉलरस आदि की एक चमकाई हुई और नक़्क़ाशीदार स्तंभास्थि को अलास्काई संस्कृति मे उसिक (oosik) कहा जाता है। रैकून की स्तंभास्थि को कभी कभी किस्मत या यौनाकर्षण के लिए पहना जाता है।

सन्दर्भ[संपादित करें]

इन्हें भी देखें[संपादित करें]