सोहगौरा ताम्रलेख

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search
सोहगौरा ताम्रलेख
Soghaura inscription.jpg
सोहगौरा ताम्रपट
सामग्री ताम्र
लेखन ब्राह्मी लिपि
Created ईसापूर्व तीसरी शताब्दी
काल/संस्कृति ईसापूर्व तीसरी शताब्दी
स्थान भारत
वर्तमान स्थान सोहगुरा

सोहगौरा ताम्रलेख एक ताम्रपट्ट पर लेखबद्ध प्राचीन लेख है जो उत्तर प्रदेश में गोरखपुर के पास सोहगौरा नामक स्थान से प्राप्त हुआ है। सोहगौरा, गोरखपुर से ३५ किमी दक्षिण-पूर्व में राप्ती नदी के किनारे स्थित है। [1] इस ताम्रलेख की लिपि ब्राह्मी है और भाषा प्राकृत

सोहगौरा का पुरास्थल भारतीय लेखन कला की प्राचीनता को प्रमाणित करने वाला पहला अभिलेख प्रस्तुत करता है। इसमें अकाल एवं दुर्भिक्ष के समय जनता के उपयोग के लिए अन्न के तीन कोष्ठागारों के बनाने का वर्णन है।

इस अभिलेख में राण्यो अशोक(राजा अशोक)उल्लिखित है

सन्दर्भ[संपादित करें]

  1. THE SOHGAURA COPPER-PLATE REGISTRATION BM Barua Annals of the Bhandarkar Oriental Research Institute Vol. 11, No. 1 (1930), pp. 32-48 [1]