सैन्य अड्डा

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
नेविगेशन पर जाएँ खोज पर जाएँ
रियूनियन में पोर्ट डेस गैलेट्स के नौसैनिक अड्डे पर फ्रांसीसी नौसेना के पोत

सैन्य अड्डा (या सैन्य ठिकाना) एक सुविधा क्षेत्र है जो सीधे सेना या इसकी एक शाखा द्वारा संचालित होता है, तथा जो सैन्य उपकरण और कर्मियों को आश्रय देता है, और प्रशिक्षण एवम् संचालन को सुविधाजनक बनाता है। एक सैन्य अड्डा एक या एक से अधिक सैन्य इकाइयों के लिए आवास प्रदान करता है, लेकिन इसका इस्तेमाल कमांड सेंटर, ट्रेनिंग ग्राउंड या हथियार और सैन्य प्रौद्योगिकी के परीक्षण ग्राउंड के रूप में भी किया जा सकता है। ज्यादातर मामलों में, सैन्य अड्डे अपने संचालन के लिए बाहरी मदद पर निर्भर होते हैं। फिर भी, कुछ जटिल अड्डे लंबे समय तक अपने दम पर बने रहने में सक्षम होते हैं क्योंकि वे घेराबंदी से गुजरने दौरान अपने निवासियों के लिए भोजन, पानी और अन्य जीवन समर्थन आवश्यकताओं को प्रदान करने में सक्षम होते हैं। सैन्य उड्डयन के लिए बने सैन्य अड्डे को सैन्य हवाई अड्डा कहा जाता है। सैन्य जहाजों के लिए बने सैन्य अड्डे को नौसैनिक अड्डा कहा जाता है।

न्यायिक परिभाषा[संपादित करें]

संयुक्त राज्य अमेरिका के फ्लोरिडा में फोर्ट जेफरसन सैन्य अड्डे का एक उदाहरण है, हालांकि कोई विशेष आकार या नक्शा जरूरी नहीं है। फोर्ट जेफरसन अब उपयोग में नहीं है और वर्तमान में ड्राई टोर्टुगास नेशनल पार्क का हिस्सा है।

संयुक्त राज्य अमेरिका के भीतर सैन्य ठिकानों को संघीय संपत्ति माना जाता है और वे संघीय कानून के अधीन हैं। सैन्य ठिकानों पर रहने वाले नागरिक (जैसे कि सैन्य अधिकारी के पारिवारिक सदस्य) आमतौर पर उसी राज्य के नागरिक और आपराधिक कानून के अधीन होते हैं जहां सैन्य ठिकाने स्थित हैं।[1] सैन्य अड्डे छोटे चौकी से लेकर 100,000 से अधिक लोगों वाले सैन्य शहरों तक के अकार के हो सकते हैं। सैन्य ठिकाने उसके आसपास के क्षेत्र की तुलना में एक अलग राष्ट्र या राज्य के हो सकते हैं।

नामकरण[संपादित करें]

आमतौर पर, इस्तेमाल किया जाने वाला नाम उस प्रकार की सैन्य गतिविधि को दर्शाता है जो सैन्य अड्डे पर होती है।

एक सैन्य अड्डा कई नामों से जा सकता है, जैसे कि निम्नलिखित:

सन्दर्भ[संपादित करें]

  1. Nov 2016, 25 (2016-11-25). "Smoke a Joint in the These States, But Not On Base". Military.com (अंग्रेज़ी में). मूल से 9 नवंबर 2019 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 2019-12-14.