सेशेल्सी रुपया

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search

सेसलसी रुपया की जरूरत उस समय तक नहीं थी जब तक भारतीय रुपया की विश्व में सर्वाधिक मांग थी लेकिन जब दूसरे राष्ट्रों ने स्वतंत्रता प्राप्ति के बाद अपनी खुद की करेंसी स्थापित कर ली उसके बाद भारतीय क्रांति में जबरदस्त गिरावट देखने को मिली जिसका फायदा अमेरिकन डॉलर को हुआ जिसके कारण भारतीय करंसी बहुत तेज गिरावट देखी गई कुछ समय पश्चात सेशेल्सी मैं भी स्वतंत्रता प्राप्त करने के पश्चात अपनी करेंसी का गठन किया उस समय एक बार देख करंसी के मूल्य 5 यूरो था लेकिन बाद ₹10 में गिरावट आने के पश्चात यह मुल्ले बहुत ज्यादा बढ़ गया जिससे सेल्फी रुपया में बढ़ोतरी देखी गई और यही वो दिन था जिस दिन से सेशेल्सी का इतिहास एक नई भविष्य का गवाह बना आज तक सेशेल्सी अपनी उसी रफ्तार के साथ उन्नति कर रहा है आज एक भारतीय रुपया 5 सेशेल्सी रुपया के बराबर है