सेब

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
(सेव से अनुप्रेषित)
Jump to navigation Jump to search

वानस्पतिक वर्गीकरण (By एहसान आलम)[संपादित करें]

वानस्पतिक नाम- मेलस डोमेस्टिका या मेलस प्युमिला

गुणसू‌त्र संख्या- 2n= 34,51

फल का प्रकार- पोम

खाने का भाग- माँसल पुष्पासन

सेब एक फल है। सेब का रंग लाल या हरा होता है। वैज्ञानिक भाषा में इसे मेलस डोमेस्टिका (Melus domestica) कहते हैं। इसका मुख्यतः स्थान मध्य एशिया है। इसके अलावा बाद में यह यूरोप में भी उगाया जाने लगा। यह हजारों वर्षों से एशिया और यूरोप में उगाया जाता रहा है। इसे एशिया और यूरोप से उत्तरी अमेरिका बेचा जाता है। इसका ग्रीक और यूरोप में धार्मिक महत्व है।

व्युत्पत्ति[संपादित करें]

यह भारत के उत्तरी प्रदेश हिमाचल में पैदा होता है, इसमे विटामिन होते हैं।

इतिहास[संपादित करें]

इसके बारे में पता लगाने का श्रेय सिकंदर महान को दिया जाता है। वह मध्य एशिया में जब आया तब उसने इस फल के बारे में जाना और उसी के कारण यूरोप में भी सेब के कई प्रजातियाँ मौजूद है।[1]

सांस्कृतिक पहलू[संपादित करें]

युरोपीय बुतपरस्ती[संपादित करें]

नॉर्स, इंग्लैंड में इस फल को देवताओं द्वारा दिया गया उपहार मानते हैं। यह इंग्लैंड में जर्मन लोगों के शुरुआती समय में बने कब्र में पाया गया। जो एक प्रतीक के रूप में बनाया जाता था।

‌‌‌सेब खाने के फायदे[संपादित करें]

सेब केवल स्वादिष्ट ही नहीं होता है। वरन इसके अंदर कई सारे तत्व भी मौजूद होते हैं। जो हमारे शरीर को पोषण प्रदान करते हैं। शरीर के अंदर आवश्यक पदार्थें की भी पूर्ति करते हैं। इसके अलावा सेब खाने से अनेक प्रकार की बिमारियों के होने की संभावना कम हो जाती है।

‌‌‌एनिमिया को दूर करता है[संपादित करें]

एनिमिया के अंदर इंसान मे खून की कमी हो जाती है। और शरीर के अंदर खून नहीं बनता है। हिमोग्लोबिन की भी कमी आ जाती है। सेब के अंदर आयरन होता है। जिससे बोड़ी के अंदर हिमोग्लोबिन की मात्रा बढ़ जाएगी । यदि रोज सेब खा नहीं सकते तो सप्ताह के अंदर एक बार अवश्य खाएं ।

‌‌‌चेहरे की खूबसूरती को बढ़ाता है[संपादित करें]

यदि आपके फेस पर दाग धब्बे हो गए । और आप अपने चेहरे को साफ करना चाहते हैं तो आप रोज एक सेब का सेवन करें । कुछ ही दिनों मे आपको फर्क महसूस हो जाएगा ।

‌‌‌हर्ट के रोगों को दूर करने मे मददगार[संपादित करें]

सेब हर्ट के लिए भी काफी फायदे मंद है। हर्ट मे oxidation से होने वाली क्षति को कम करता है। यह शरीर के अंदर कॉलेस्ट्रॉल की मात्रा को कंट्रोल करता है। यह शुगर की मात्रा को भी कम करता है हर्ट के अंदर अच्छे से खून का प्रवाह बनाए रखने के लिए भी सेब फायदे मंद है।

‌‌‌वजन घटाने मे सहायक[संपादित करें]

यदि आपका वजन तेजी से बढ़ रहा है। और आपको इसका कोई कारगर उपाय नहीं सूझ रहा है। तो आपको रोजाना 2 सेब का सेवन करना चाहिए । जिससे आपका वजन कम होगा । यह वैज्ञानिक रिसर्च के अंदर भी प्रमाणित किया जा चुका है।

‌‌‌दिमाग को अच्छा बनाने मे[संपादित करें]

सेब का सेवन करने से अल्जाइमर रोग होने की संभावना कम हो जाती है। और यादाश्त भी अच्छी बनी रहती है। यह दिमागी कोशिकाओं को स्वस्थ बनाता है। और दिमाग के अंदर खून का प्रवाह सही करता है।

‌‌‌लिवर को साफ करता है[संपादित करें]

सेब के अंदर कई प्रकार के विषहर पदार्थ पाए जाते हैं यह लिवर कीगंदगी को साफ करता है।प्रतिदिन सेब का सेवन करने पाचन सही से होता है। और खून भी शरीर के अंदर सही तरह से दौरा करता है।

‌‌‌किड़नी स्टोन की संभावना को कम करता है[संपादित करें]

सेब के अंदर  साइडर विनिजर नामक तत्व पाया जाता है जोकि किडनी के अंदर पैदा होने वाले स्टोन की संभावना को कम कर देता है। वैसे आजकल हर दूसरे इंसान को पथरी की समस्या है। ऐसे लोगों को सेब का अधिक सेवन करना चाहिए ।

इम्यून सिस्टम को मजबूत बनाता है[संपादित करें]

सेब इम्यून सिस्टम को मजबूत बनाता है वैज्ञानिक रिसर्च के मुताबिक सेब शरीर के अंदर पाए जाने वाले बैक्टिरिया को खत्म करता है। सेब के अंदर रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाने का गुण भी पाया जाता है ।

‌‌‌आंखों की रोशनी बढ़ाने मे मददगार[संपादित करें]

सेब के अंदर विटामिन ए पाया जाता है। जो आंखों की रोशनी को बढ़ाने मे मददगार है। जिन लोगों की आंखों की रोशनी कमजोर हो चुकी हैं। या चश्मा लग चुका है उनको सेब का सेवन करना चाहिए ।

उत्पात व खपत[संपादित करें]

सेव के उत्पादन क्षेत्र
प्रेषण के लिए सेब
सेव का वृक्ष और उस पर लगे सेव

सन्दर्भ[संपादित करें]

बाहरी कड़ियाँ[संपादित करें]