सूर्यप्रकाश चतुर्वेदी

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search

सूर्यप्रकाश चतुर्वेदी (जन्म-7 नवम्बर, 1937 ई॰) एक क्रिकेट समीक्षक, लेखक और इतिहासकार हैं। वे हिन्दी में क्रिकेट पर लिखने वालों में अग्रगण्य लेखक हैं।

जीवन-परिचय[संपादित करें]

सूर्यप्रकाश चतुर्वेदी का जन्म 7 नवम्बर, 1937 ई॰ को इंदौर (मध्य प्रदेश) में हुआ। वे इंदौर के गवर्नमेंट आर्ट्स एंड कॉमर्स कॉलेज में अंग्रेजी के प्रोफेसर थे। वहाँ उन्होंने पैंतीस साल तक पढ़ाया। उन्होंने कॉलेजियम स्तर पर क्रिकेट खेला, इंदौर विश्वविद्यालय और क्रिश्चियन कॉलेज, इंदौर में मध्य क्रम के बल्लेबाज के रूप में प्रतिनिधित्व किया। उन्होंने इंदौर संभागीय क्रिकेट एसोसिएशन के लिए आठ साल तक मानद सचिव तथा ISPORA (इंदौर स्पोर्ट्स राइटर्स एसोसिएशन) के अध्यक्ष के रूप में पाँच साल तक काम किया। वे आकाशवाणी और दूरदर्शन पर एवं यू॰जी॰सी॰ के कार्यक्रमों में उद्घोषणा[1] के अतिरिक्त क्रिकेट का विश्लेषण भी करते रहे हैं।[2]

लेखन-कार्य[संपादित करें]

पेशे से प्राध्यापक होने के बावजूद क्रिकेट के प्रति अपनी विशिष्ट अभिरुचि के कारण प्रो॰ सूर्यप्रकाश चतुर्वेदी विगत लगभग चार दशकों से देश के विभिन्न पत्र-पत्रिकाओं में क्रिकेट पर हिन्दी में प्रामाणिक तौर पर लिखते रहे हैं।[2] आरम्भ में खेल-रिपोर्टों के बाद उन्होंने धर्मयुग, साप्ताहिक हिंदुस्तान, रविवार (पत्रिका) जैसी प्रसिद्ध पत्रिकाओं के लिए और जनसत्ता, नवभारत टाइम्स और दैनिक भास्कर जैसे अखबारों के लिए भी लिखा। उन्होंने विजय हजारे की पुस्तक 'मैं और मेरे समकालीन' के हिन्दी अनुवाद के साथ शुरुआत की। प्रो॰ चतुर्वेदी के लेखन से पूर्व क्रिकेट जैसे लोकप्रिय खेल के इतिहास और विकास पर हिन्दी में कोई पुस्तक उपलब्ध नहीं थी।[3] उन्होंने इस लोकप्रिय खेल से सम्बद्ध इतिहासनुमा पुस्तकों के अतिरिक्त विभिन्न खिलाड़ियों एवं अंपायरों के जीवन एवं उपलब्धियों पर केंद्रित पुस्तकें भी लिखी हैं।

प्रकाशित पुस्तकें[संपादित करें]

  1. सी के नायडू -1995 (प्रकाशन विभाग, भारत सरकार)
  2. मुश्ताक अली -1997 (प्रकाशन विभाग, भारत सरकार)
  3. आजाद भारत में क्रिकेट -2000 (नेशनल बुक ट्रस्ट, इंडिया, नयी दिल्ली)
  4. हमारे आज के क्रिकेट सितारे -2003 (प्रकाशन विभाग, भारत सरकार)
  5. नंबर एक कौन और क्यों? - सचिन, वॉ या लारा -2003 (प्रकाशन विभाग, भारत सरकार)
  6. विश्व क्रिकेट और भारत -2005 (नेशनल बुक ट्रस्ट; हिंदुस्तान टाइम्स के संदीप सिन्हा द्वारा अंग्रेजी में भी अनुवादित)
  7. भारतीय स्पिन गेंदबाजी की परम्परा -2007 (राजकमल प्रकाशन, नयी दिल्ली)
  8. ऑलराउंडर्स -2007 (नेशनल बुक ट्रस्ट; अंग्रेजी, मराठी, पंजाबी और उर्दू में भी अनुवादित[4])
  9. हमारे कप्तान : नायडू ने धोनी तक -2010 (राजकमल प्रकाशन, नयी दिल्ली)
  10. भारत के विकेटकीपर्स -2011 (नेशनल बुक ट्रस्ट)
  11. क्रिकेट अंपायर्स -2012 (नेशनल बुक ट्रस्ट)
  12. बाईस गज की दुनिया -2015 (राजकमल प्रकाशन, नयी दिल्ली)

सम्मान[संपादित करें]

क्रिकेट और हिन्दी में उनके योगदान के लिए उन्हें विभिन्न एसोसिएशन और सोसायटी द्वारा सम्मानित किया गया है। उनमें से प्रमुख हैं:

  1. द इंदौर डिविजनल क्रिकेट एसोसिएशन।
  2. अखिल भारतीय राष्ट्रभाषा साहित्य प्रचार समिति।
  3. 2016 में एमपीसीए का माधवराव सिंधिया लाइफटाइम अचीवमेंट अवार्ड।

इन्हें भी देखें[संपादित करें]

सन्दर्भ[संपादित करें]

  1. ऑलराउंडर्स, सूर्यप्रकाश चतुर्वेदी, नेशनल बुक ट्रस्ट, इंडिया, छठा संस्करण-2012, अंतिम आवरण पृष्ठ पर उल्लिखित।
  2. सूर्यप्रकाश, चतुर्वेदी (2012). क्रिकेट अंपायर्स (प्रथम संस्करण). नयी दिल्ली: नेशनल बुक ट्रस्ट, इंडिया. पृ॰ अंतिम आवरण पर उल्लिखित।. आई॰ऍस॰बी॰ऍन॰ 978-81-237-6618-8.
  3. सूर्यप्रकाश, चतुर्वेदी (2013). विश्व क्रिकेट और भारत (संशोधित संस्करण). नयी दिल्ली: राष्ट्रीय पुस्तक न्यास, भारत. पृ॰ आठ. आई॰ऍस॰बी॰ऍन॰ 978-81-237-4303-5.
  4. भारत के विकेटकीपर्स, सूर्यप्रकाश चतुर्वेदी, नेशनल बुक ट्रस्ट, इंडिया, पहला संस्करण-2011, अंतिम आवरण पृष्ठ पर उल्लिखित।

बाहरी कड़ियाँ[संपादित करें]