सुहाग रात (1968 फ़िल्म)

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search
सुहाग रात
सुहाग रात.jpg
सुहाग रात का पोस्टर
निर्देशक आर॰ भट्टाचार्य
निर्माता आर॰ भट्टाचार्य
लेखक एच॰ ए॰ राही
अभिनेता जितेन्द्र,
राजश्री
संगीतकार कल्याणजी-आनंदजी[1]
प्रदर्शन तिथि(याँ) 1968
देश भारत
भाषा हिन्दी

सुहाग रात 1968 में बनी हिन्दी भाषा की फिल्म है। इसको आर॰ भट्टाचार्य द्वारा निर्मित और निर्देशित किया गया। कल्याणजी-आनंदजी द्वारा रचित संगीत के साथ इसमें जितेन्द्र और राजश्री प्रमुख भूमिकाओं में हैं।

संक्षेप[संपादित करें]

लाला हरसुख राय की बेटी रज्जो (राजश्री) को फ्लाइट लेफ्टिनेंट जितेन्द्र से प्यार हो जाता है और उनकी शादी तय हो जाती है। शादी के दिन, युद्ध की घोषणा हो जाती है। शादी रद्द हो जाती है और वह सैन्य कर्तव्य के लिये निकल पड़ता है। वह गंभीर रूप से घायल हो जाता है और अस्पताल में भर्ती किया जाता है। रज्जो का परिवार हवाई बमबारी का शिकार हो जाता है और वह अपने चचेरे भाई के साथ रहने के लिए चली जाती है। जितेन्द्र वापसी करता है और यह जानकर उसका बुरा हाल हो जाता है कि सभी मारे गये हैं।

एक धनी महिला रानी साहेबा (सुलोचना लाटकर) उस पर दया करती है। वह उसे काम पर रखती है, और बताती है कि उसका बेटा ठाकुर उदय सिंह लड़कीबाज़ और शराबी है। जितेन्द्र उसे शादी करने के लिए मनाता है और वह ऐसा करने के लिए सहमत हो जाता है। उसकी शादी रज्जो के साथ ही तय हुई होती है, लेकिन दोनों अपनी चुप्पी बनाए रखते हैं। शादी की रात, उदय वेश्यालय चला जाता है। वहाँ उसकी एक से हाथापाई हो जाती है। वह उसे मार देता है और भाग जाता है। बाद में पुलिस को उसका शव मिलता है और रज्जो विधवा हो जाती है।

मुख्य कलाकार[संपादित करें]

संगीत[संपादित करें]

सभी कल्याणजी-आनंदजी द्वारा संगीतबद्ध।

क्र॰शीर्षकगीतकारगायकअवधि
1."गंगा मैया में जब तक"इंदीवरलता मंगेशकर6:50
2."अरे ओह रे"इंदीवरकिशोर कुमार4:26
3."मोहे लगी रे लगी"क़मर जलालाबादीलता मंगेशकर4:44
4."मेरे दिल से दिल को"क़मर जलालाबादीमन्ना डे4:49
5."खुश रहो"इंदीवरमुकेश5:04
6."मैं कयामत हूँ"अख्तर रूमानीआशा भोंसले, लता मंगेशकर5:05

सन्दर्भ[संपादित करें]

  1. "Suhaag Raat : Lyrics and video of Songs from the Movie Suhaag Raat (1969)". HindiGeetMala (अंग्रेज़ी में). अभिगमन तिथि 7 मई 2019.

बाहरी कड़ियाँ[संपादित करें]