सुलह

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search

सुलह (अंग्रेजी:Compromise; उर्दू: صلح) का अर्थ होता है समझौता।

इन्हें भी देखें[संपादित करें]

नमस्कार सभी साथियों को शुरू करते हैं जैसे कि आप देख रहे हैं उपरोक्तानुसार सुलहनामा क्या जैसा कि शब्द से ही ज्ञात हो रहा होगा जब कभी किन्ही दो पक्षो के मध्य जब आपसी झगड़ा हो या किसी बात पर मनमुटाव होता है उसी मनमुटाव के कारण जब दोनों पक्षों के बीच बात बहुत बिगड़कर झगड़े में बदल जाती है तो उस झगड़े को हमेशा किसी तीसरे पक्ष के माध्यम से खत्म करने की कोशिश की जाती है। उदहारण के तौर पर देखेंगे कि जैसे कभी दो पक्षो के बीच बात बिगड़ गयी है तो उसको दूर करने की कोशिश की जाती है या तो पंचायतो के माध्यम से या जब बात न्यायालय पहुच जाता है तो कोर्ट के माध्यम से जब सुलह कराया जाता है तो एक शर्तो और नियमो का लिखित पत्र तैयार किया जाता है दोनो पक्षो को उस पत्र में लिखे शर्तो और नियमो का पालन करना होता है। जिसमे कुछ शर्त होती हैं शर्तो के इसी पत्र को सुलहनामा या आपसी सुलहनामा कहा जाता है ।

                  ललित 654
   1       सुलहनामा
   2       समझौता पत्र
   3       सहसम्मति पत्र 
   4       समझोटानाम आदि