सुनील लहरी

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search
सुनील लहरी
राष्ट्रीयता भारतीय
व्यवसाय अभिनेता
धार्मिक मान्यता सनातन धर्म
जीवनसाथी .....

सुनील लहरी भारतीय अभिनेता हैं। वो रामानन्द सागर के टेलीविज़न धारावाहिक रामायण (टीवी धारावाहिक)रामायण में लक्ष्मण की भूमिका के लिए जाने जाते हैं। इससे पहले वो विक्रम और बेताल एवं दादा-दादी की कहानियां में नजर आये थे जो टेलीविजन पर आता था।टेलीविजन की दुनिया भी कोई छोटी-मोटी इंडस्ट्री नहीं समझी जाती। यहां से निकले हुए स्टार अकसर बड़े पर्दे पर भी नजर आते हैं। लेकिन कुछ ऐसे भी स्टार हैं जो टीवी पर बड़ा धमाल करने के बाद भी गुमनामी के अंधेरे में चले जाते हैं। दरअसल, हम बात कर रहे हैं पॉपुलर सीरियल रामायण में लक्ष्मण का किरदार निभाने वाले एक्टर सुनील लहरी की। आइए जानतें हैं क्या रही इनकी कहानी...

सीरियल रामायण को तकरीबन 30 साल हो चुके हैं लेकिन उनके ज्यादातर किरदार आज भी हमारे दिलों-दिमाग पर छाए हुए हैं। चाहें उनमें राम का रोल करने वाली अरुण गोविल हो या फिर भीष्म पितामाह के किरदार में नजर आने वाले मुकेश खन्ना। लेकिन बहुत कम लोग इस बात से अंजान है कि रामायण में राम के आज्ञाकारी भाई लक्ष्मण का किरदार निभाने वाले सुनील लहरी कौन हैं और कहां हैं।


बता दें कि सुनील रामायण के बाद पॉपुलर सीरियल विक्रम बेताल और दादा-दादी की कहानियां में नजर आए थे। लेकिन आज उनका लुक बिल्कुल बदल चुका है और उन्हें पहचानना इतना आसान नहीं रह गया है। दरअसल, रामायण में उन्होंने अपने लक्ष्मण के किरदार से लोगों का दिल जीत लिया। इसी की चलते आज के समय में ज्यादातार लोग उन्हें लक्ष्मण के नाम से ही जानते हैं।

1990 में इन्होंने टीवी सीरीज परमवीर चक्र में भी अभिनय किया। रामायण में अपना जोरदार अभिनय करने से पहले इन्होंने पहले विक्रम और बेताल में दादा-दादी की कहानियों में इनका दमदार अभिनय देख रामानंद सागर ने रामायण में लक्ष्मण के किरदार के लिए चुना था।

सुनील के पिताजी एक डॉक्टर थे और मेडिकल कॉलेज में प्रोफेसर भी थे। पिता की मृत्यु के बाद उन्होंने अपने पिता के मृत शरीर को भोपल के जे.के.मेडिकल कॉलेज में दान कर दिया था। आपको बता दें कि सुनील लहरी ने अपनी एक्टिंग करियर की शुरुआत 1991 में आई फिल्म 'बहारों की मंजिल' से की थी।

सन्दर्भ[संपादित करें]

बाहरी कड़ियाँ[संपादित करें]