सुधीर चक्रवर्ती

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
नेविगेशन पर जाएँ खोज पर जाएँ
सुधीर चक्रवर्ती
सुधीर चक्रवर्ती की चित्र
जन्म१९ सितम्बर १९३४
शिबपुर, बंगाल प्रेसीडेंसी, ब्रिटिश भारत
मृत्यु15 December 2020 (aged 86)
कोलकाता, पश्चिम बंगाल
व्यवसायसाहित्यकार, शिक्षक, शिक्षक, संगीत विशेषज्ञ
भाषाबंगाली, भारत
उच्च शिक्षाबीए कृष्णनगर गवर्नमेंट कॉलेज, एमए कलकत्ता विश्वविद्यालय, पीएच.डी. जादवपुर विश्वविद्यालय
उल्लेखनीय कार्यs
गभीर निर्जन पाथे,बाउल फकीर कथा Ka,गणेर लीलार सेई किनरे,सदर माफ़सवाली
उल्लेखनीय सम्मानआनंद पुरस्कार
साहित्य अकादमी पुरस्कार (1985)
शिरोमणि पुरस्कार
आचार्य दिनेश चंद्र सेन पुरस्कार
नरसिंह दास पुरस्कार
सरोजिनी बसु स्वर्ण पदक
जीवनसाथीनिवेदिता चक्रवर्ती
सन्तानसानंद चक्रवर्ती श्रेया चक्रवर्ती

हस्ताक्षर

सुधीर चक्रवर्ती बंगाली भाषा के विख्यात साहित्यकार हैं। इनके द्वारा रचित एक समालोचना बाउल फकिर कथा के लिये उन्हें सन् 2004 में साहित्य अकादमी पुरस्कार से सम्मानित किया गया।

शुरुआती ज़िंदगी और पेशा[संपादित करें]

सुधीर चक्रवर्ती या सुधीर प्रसाद चक्रवर्ती का जन्म 19 सितंबर 1934 को शिबपुर में हुआ था। उनके पिता का नाम रामप्रसाद चक्रवर्ती और माता का नाम बीनापानी चक्रवर्ती था। वह रामप्रसाद के नौ पुत्रों में सबसे छोटे थे। कोलकाता में जापानी बमबारी के डर के कारण, चक्रवर्ती के पिता बचपन में शिबपुर, हावड़ा से दिगनगर, नादिया, (जहाँ उनके पास जमींदार के रूप में पैतृक भूमि थी) स्थानांतरित हो गए थे। उसके बाद उनका परिवार कृष्णानगर, नादिया आ गया। [1] [2] चक्रवर्ती ने अपनी पढ़ाई कलकत्ता विश्वविद्यालय से पूरी की। चक्रवर्ती को लोक धर्म, ललन फकीर और बंगाल में सांस्कृतिक नृविज्ञान पर उनके शोध कार्यों के लिए जाना जाता है। उन्होंने पूरे पश्चिम बंगाल के विभिन्न गांवों की यात्रा करके लोक संस्कृति पर शोध करने में 30 साल बिताए। [3] वे १९५८ से १९९४ तक बंगाली साहित्य के प्रोफेसर थे, लेकिन सेवानिवृत्ति के बाद भी २०११ तक अध्यापन करते रहे। चक्रवर्ती ने कृष्णानगर गवर्नमेंट कॉलेज में काम किया , जादवपुर विश्वविद्यालय के अतिथि व्याख्याता और विकास अध्ययन संस्थान, कोलकाता से भी जुड़े रहे। उन्होंने संगीत, कला, लोक-धर्म, सांस्कृतिक नृविज्ञान जैसे विभिन्न विषयों पर 85 से अधिक पुस्तकें लिखी और संपादित कीं। वे बंगाली साहित्यिक पत्रिका ध्रुबपद के संपादक थे। [4] उनका निधन 15 दिसंबर 2020 को कोलकाता में हुआ था[5] [6]

काम[संपादित करें]

सुधीर चक्रवर्ती
  • साहेबधोनी सोमप्रोडे ओ तादेर गण
  • गोभीर निर्जोन पोथेय
  • बाउल फकीर कथा Ka
  • सदर माफ़सली
  • निर्जन एककर गण रवीन्द्र संगीत San
  • अखानेर खोजे
  • बांग्ला फ़्लिमर गण ओ सत्यजीत रॉय
  • रबीकाररेखा
  • ललन
  • ब्राट्यो लोकायत ललन
  • देखा ना देखा मेश
  • बांग्ला देहात्टर गण
  • रूप बार्ने छांदे
  • निर्जन सजने
  • लोकसमाज ओ लोकचित्र
  • निर्बास
  • लेख पोरा कोरे जे
  • बांग्ला गणेर आलोकपोरबो
  • अनेक डाइनर अनेक कथा
  • बोलाहारी सोमवार को तदर गण
  • बार्ने बार्ने पुष्पे पर्ने
  • चरनो ई जिबोन
  • मानिनी रूपमती कुबीर गोसाईं
  • गाने गाने गए
  • निर्जों सोजोन
  • ललन साईं कुबीर गोसाई ओ तदेर १०० गानो
  • शामुक झिनुकी
  • गानेर लीलर सेइ किनारे
  • मति पृथ्वीबीर ताने
  • साहित्यर लोकायतो पथ
  • लोकयोटर ओन्यो बांके
  • निर्बचितो अख्यान
  • निभृतो मोनेर छाया
  • पंचग्रामर कोरोचा
  • पोस्चिंबोंगर मेलामोहोत्सव
  • शिल्पर खोजे
  • द्विजेंद्रलाल रॉय स्मरण बिस्मरानी
  • गहरी अकेली गलियों के साथ (गोभीर निर्जोन पोथे का अंग्रेजी अनुवाद)
  • एलम नोटुन देशे
  • मेघे मेघे तारय
  • उत्साबे मेले इतिहासे
  • शता शता गीता मुखरिता
  • कृष्णगारेर मृत्युशिल्पो या मृत्युशिलिप समाजो
  • शता गणेर गण मेला
  • एकशो गणेर मोर्मो कोठा
  • कोटो रेंजर बोक्शी कथा ka
  • सुधीर चक्रवर्ती रचनाावली के छह खंड

पुरस्कार[संपादित करें]

चक्रवर्ती को उनकी पुस्तक बाउल फकीर कथा और साहित्य अकादमी पुरस्कार २००४ के लिए २००२ में आनंद [7] उन्हें २००६ में कलकत्ता विश्वविद्यालय से प्रख्यात शिक्षक का पुरस्कार मिला [8] दिल्ली विश्वविद्यालय से नरसिंह दास पुरस्कार पदक और एशियाटिक सोसाइटी से डॉ. सुकुमार सेन स्वर्ण पदक। उन्होंने यह भी टैगोर अनुसंधान संस्थान द्वारा Rabindratatvacharya के खिताब से सम्मानित किया गया है।

संदर्भ[संपादित करें]

  1. "কোথায় গেল সে সব আশ্চর্য পড়শিরা". anandabazar.com. अभिगमन तिथि 27 April 2018.
  2. হালদার, সুস্মিত. "রোজ পৌঁছতেন কাঠিবনে". www.anandabazar.com. अभिगमन तिथि 2021-03-08.
  3. "Their music inspired Tagore, Bob Dylan: This book tells you all about Bauls of Bengal". Hindustan Times. अभिगमन तिथि 27 April 2018.
  4. "Dr. Sudhir Chakraborty". nadia.gov.in. अभिगमन तिथि 27 April 2018.
  5. MP, Team (2020-12-16). "Sahitya Akademi awardee Sudhir Chakraborty passes away". www.millenniumpost.in (अंग्रेज़ी में). अभिगमन तिथि 2020-12-16.
  6. সংবাদদাতা, নিজস্ব. "লোকসংস্কৃতি গবেষক সুধীর চক্রবর্তী প্রয়াত". anandabazar.com (Bengali में). अभिगमन तिथि 2020-12-16.
  7. "AKADEMI AWARDS (1955–2016)". sahitya-akademi.gov.in. अभिगमन तिथि 27 April 2018.
  8. "Recipient of Eminent Teacher Awards". मूल से 28 अप्रैल 2018 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 27 April 2018.