सुकेश साहनी

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search
सुकेश साहनी
जन्म5 सितम्बर 1956 (1956-09-05) (आयु 63)
लखनऊ, उ.प्र., भारत
व्यवसायलेखक
राष्ट्रीयताभारतीय
विधालघुकथा
विषयसाहित्य
साहित्यिक आन्दोलनलघुकथा आंदोलन
उल्लेखनीय सम्मानडॉ॰परमेश्वर गोयल लघुकथा सम्मान, माता शरबती देवी पुरस्कार, डॉ॰ मुरली मनोहर हिन्दी साहित्यिक सम्मान तथा माधवराव सप्रे सम्मान।
जीवनसाथीरीता साहनी
सन्तानहितेश साहनी (पुत्र), सुम्मी साहनी (पुत्री)
जालस्थल
www.laghukatha.com

सुकेश साहनी (जन्म : 5सितंबर 1956, लखनऊ, उ.प्र.), हिंदी के लघुकथा लेखक हैं, जिनका लघुकथा की विकास यात्रा में महत्त्वपूर्ण योगदान रहा है।[1] उनके दो लघुकथा संग्रह 'डरे हुए लोग'[2] तथा 'ठंडी रज़ाई'[3]प्रकाशित हैं। उनकी दोनों पुस्तकें क्रमश: 'डरे हुए लोग' का पंजाबी, गुजराती, मराठीअंग्रेज़ी में तथा 'ठंडी रज़ाई' का अंग्रेज़ीपंजाबी भाषा में अनुवाद हुआ है। इसके अतिरिक्त एक कहानी संग्रह 'मैग्मा और अन्य कहानियाँ' तथा बालकथा संग्रह 'अक्ल बड़ी या भैंस' प्रकाशित हुए हैं। उनकी कहानी 'रास्तों से दोस्ती' अमनजोत सिंह सढौरा द्वारा पंजाबी में अनुवाद की गई। हीं उनकी कुछ लघुकथाएँ जर्मन भाषा में भी अनूदित हुईं हैं। 'रोशनी' कहानी पर दूरदर्शन के लिए उन्होने टेलीफिल्म का निर्माण किया है। उनकी एक और पुस्तक "लघु अपराध कथाएं "[4] प्रकाशित हुई हैं और उन्होने लघुकथाओं के आधे दर्जन से अधिक संकलनों का संपादन भी किया है। उन्हें 1994 में डॉ॰परमेश्वर गोयल लघुकथा सम्मान, 1996 में माता शरबती देवी पुरस्कार,1998 में डॉ॰ मुरली मनोहर हिन्दी साहित्यिक सम्मान तथा 2008 में माधवराव सप्रे सम्मान प्राप्त हुए हैं।[5]

सन्दर्भ[संपादित करें]

  1. "सुकेश साहनी का परिचय". अभिगमन तिथि 13 मई 2014.
  2. सुकेश साहनी (1991/2010). डरे हुए लोग (सजिल्द). अयन प्रकाशन, महरौली, नई दिल्ली-110030. पृ॰ 126. आई॰ऍस॰बी॰ऍन॰ 9788174083876. |year= में तिथि प्राचल का मान जाँचें (मदद)
  3. सुकेश साहनी (1998). ठंडी रज़ाई. अयन प्रकाशन, महरौली, नई दिल्ली-110030. पृ॰ 112. ASIN B0000E73E1.
  4. सुकेश साहनी (2001). लघु अपराध कथाएं (अजिल्द). पुस्तक महल. पृ॰ 125. आई॰ऍस॰बी॰ऍन॰ 9788122307023.
  5. "व्यक्तित्व: सुकेश साहनी". अभिगमन तिथि 13 मई 2014.

बाहरी कड़ियाँ[संपादित करें]