सिस्टोसोमियासिस

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
सिस्टोसोमियासिस
वर्गीकरण एवं बाह्य साधन
आईसीडी-१० B65.
आईसीडी- 120
मेडलाइन प्लस 001321
एम.ईएसएच D012552

सिस्टोसोमियासिस (जिसे बिलहर्ज़िया, स्नेल फीवर और कत्यामा फीवरभी कहते हैं)[1][2] एक रोग है जो सिस्टोसोमा प्रकार के परजीवी कीड़ों के कारण होता है। यह मूत्र मार्ग या आंतोंको संक्रमित कर सकता है। लक्षणों में पेट दर्द, डायरिया, खूनी पेचिश या मूत्रमें रक्त जाना शामिल है। वे लोग जो लंबे समय से संक्रमित है उनमें लीवर की क्षति, किडनी की विफलता, बांझपन या ब्लैडर का कैंसर हो सकता है। बच्चों में इसके कारण वृद्धि व सीखने की क्षमता का हास हो सकता है।[3]

कारण[संपादित करें]

यह रोग उस पानी के साथ संपर्क से फैलता है जिसमें परजीवी होतें हैं। ये परजीवी संक्रमित ताजे पानी के घोंघों से फैलते हैं। यह रोग विकासशील देशो के बच्चों में विशेष रूप से आम है, क्योंकि उनके संक्रमित पानी में खेलने की संभावना अधिक है। अन्य उच्च जोखिम समूहों में किसान, मछुआरे तथा दैनिक कार्यो में संक्रमित पानी का उपयोग करने वाले लोग शामिल हैं।[3] यह कृमि संक्रमणसमूह से संबंधित है।[4] व्यक्ति के मूत्र या मल में परजीवी के अंडों की तलाश करके इसका निदान किया जाता है। इसकी पुष्टि रक्त में रोग के विरूद्ध पैदा हुई ऐंटीबॉडीज़ की खोज करके भी की जा सकती है।[3]

रोकथाम व उपचार[संपादित करें]

इस रोग की रोकथाम की विधियों में स्वच्छ पानी की उपलब्धता बेहतर करना तथा घोंघों की संख्या को कम करना शामिल है। वे क्षेत्र जहां पर रोग आम हो वहां पर सारे समूहों का प्राज़िक्वांटिल दवा से एक साथ तथा वार्षिक रूप से उपचार किया जाता है। यह संक्रमित लोगों की संख्या को कम करने के लिए किया जाता है और इसीलिए रोग के विस्तार को कम करता है। संक्रमित लोगों के उपचार के लिए प्राज़िक्वांटिल उपचार की अनुशंसा विश्व स्वास्थ्य संगठन द्वारा भी की गयी है। [3]

महामारी विज्ञान[संपादित करें]

सिस्टोसोमियासिस से पूरी दुनिया में 210 मिलियन लोग प्रभावित हैं[5] और हर वर्ष लगभग 12,000[6] से 200,000 लोग मर जाते हैं।[7] यह रोग सबसे आम तौर पर अफ्रीका के साथ-साथ एशिया और दक्षिण अमरीकामें पाया जाता है। [3] 70 देशों में 700 मिलियन से अधिक लोग, ऐसे क्षेत्रों में रहते हैं जहां पर यह रोग आम है।[7][8] परजीवी रोग के रूप में सबसे अधिक आर्थिक प्रभाव डालने वाला सिस्टोसोमियासिस, मलेरिया के बाद दूसरे नंबर का रोग है।[9] प्राचीन काल से 20 वीं सदी के आरंभ तक, मिस्र में सिस्टोसोमियासिस के मूत्र में रक्त को मासिक धर्म का पुरुष संस्करण माना जाता था और लड़कों के लिए इसे यादगार घटना कहा जाता था।[10][11] इसे उपेक्षित उष्णकटिबंधीय रोगके रूप में वर्गीकृत किया गया है।[12]

बाहरी कड़ियाँ[संपादित करें]

सन्दर्भ[संपादित करें]

  1. "Schistosomiasis (bilharzia)". NHS Choices. Dec 17, 2011. मूल से 5 मार्च 2016 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 15 March 2014.
  2. "Schistosomiasis". Patient.co.uk. 12/02/2013. मूल से 23 मई 2015 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 11 June 2014. |date= में तिथि प्राचल का मान जाँचें (मदद)
  3. "Schistosomiasis Fact sheet N°115". World Health Organization. February 2014. मूल से 25 जुलाई 2017 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 15 March 2014.
  4. "Chapter 3 Infectious Diseases Related To Travel". cdc.gov. अगस्त 1, 2013. मूल से 2 अप्रैल 2015 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 30 November 2014.
  5. (वीर गडरिया) पाल बघेल धनगर
  6. (वीर गडरिया) पाल बघेल धनगर
  7. (वीर गडरिया) पाल बघेल धनगर
  8. "Schistosomiasis A major public health problem". World Health Organization. मूल से 18 जुलाई 2016 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 15 March 2014.
  9. The Carter Center. "Schistosomiasis Control Program". मूल से 20 जुलाई 2008 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 17 जुलाई 2008.
  10. (वीर गडरिया) पाल बघेल धनगर
  11. (वीर गडरिया) पाल बघेल धनगर
  12. "Neglected Tropical Diseases". cdc.gov. जून 6, 2011. मूल से 27 मई 2015 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 28 November 2014.