सिग्नेट प्रेस

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search

सिगनेट प्रेस की स्थापना पश्चिम बंगाल के कोलकाता नगर में डी. के. गुप्ता ने की थी। संस्कृत कॉलेज के सामने कॉलेज स्ट्रीट नाम से किताबों के लिए प्रसिद्ध सड़क पर स्थित इस प्रेस में सत्यजित राय ने अपने जीवन के प्रारंभिक दिन विजुअल डिज़ाइनर की तरह काम करते हुए बिताए थे और कुछ प्रसिद्ध किताबों के आवरण बनाए थे। इन पुस्तकों में जवाहरलाल नेहरू की डिस्कवरी ऑफ़ इंडिया, बिभूतिभूषण बंधोपाध्याय की पाथेर पांचाली और जीबनानंद दास की रूपसी बांगला आदि प्रमुख है।