साहिबाँ

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search
साहिबाँ
साहिबाँ.jpg
साहिबाँ का पोस्टर
निर्देशक रमेश तलवार
निर्माता डी. के. चावला
लेखक अरमान शहाबी
अभिनेता ऋषि कपूर,
संजय दत्त,
माधुरी दीक्षित
संगीतकार शिव-हरि
प्रदर्शन तिथि(याँ) 16 जून, 1993
देश भारत
भाषा हिन्दी

साहिबाँ 1993 में बनी हिन्दी भाषा की प्रेमकहानी फ़िल्म है। इसमें माधुरी दीक्षित, संजय दत्त और ऋषि कपूर मुख्य भूमिकाओं में हैं। फिल्म टिकट खिड़की पर असफल रही थी।

संक्षेप[संपादित करें]

साहिबाँ (माधुरी दीक्षित) प्राचीन भारत के एक छोटे से गाँव में अपनी मां, पिता, बालाक्रम और मानसिक रूप से अस्वस्थ भाई खेरू के साथ गरीब जीवन व्यतीत करती है। बालाक्रम गुड़िया बेचकर जीविका कमाता है। साहिबाँ बेघर मजदूर, गोपी (ऋषि कपूर) से प्यार करती है, जो मंदिरों के पास रहता है और ग्रामीण जो कुछ भी देते हैं वह खाता है। खरगोश का पीछा करते हुए एक दिन, साहिबाँ निर्दयी हत्यारे और शराबी कुँवर विजय पाल सिंह (संजय दत्त) के महल में पहुँच जाती है। उसके आसमी उसका अपहरण कर लेते हैं और उसे विजय की दया पर छोड़ दिया जाता है। लेकिन साहिबाँ भागने में सफल होती है। हालाँकि, विजय उसे अपने दिमाग से बाहर निकालने में असमर्थ है और दीवान दुर्गा सिंह से उसे कहीं से भी ढूंढने को कहता है। दीवान उसे मेला के दौरान ढूंढने में सफल होता है। वह अविश्वासी और मुदित बालाक्रम और उसकी पत्नी को कई लोगों, मिठाई, गहने और कपड़ों के साथ विवाह का प्रस्ताव देता है। जब साहिबाँ विजय से शादी करने से इनकार करती है तो वे नाराज होते हैं। वह उनसे उसकी शादी गोपी से करने के लिए कहती है। जब गोपी प्रस्ताव करता है, तो उसे अपमानित किया जाता है, पीटा जाता है और जाने के लिए कहा जाता है। दीवान विजय के पास लौट आता है, जो गोपी को मारने का फैसला करता है। वो उसे ढूंढता है, उसे पीटता है, और उसे नदी में फेंक देता है। जब साहिबाँ बताती है कि विजय ने उससे जबरदस्ती करने का प्रयास किया था, तो बालाक्रम ने विजय से शादी करने की अनुमति देने से इनकार कर दिया। बालाक्रम और साहिबाँ दोनों गोपी को खोजने और ढूंढने का फैसला करते हैं। सवाल यह है कि वे समय पर गोपी का पता लगा पाएंगे?

मुख्य कलाकार[संपादित करें]

संगीत[संपादित करें]

सभी गीत आनंद बख्शी द्वारा लिखित; सारा संगीत शिव-हरि द्वारा रचित।

क्र॰शीर्षकगायकअवधि
1."साहिबाँ मेरी साहिबाँ"जॉली मुखर्जी, अनुराधा पौडवाल5:42
2."बाँसुरी ये बाँसुरी नहीं"हरिहरन5:02
3."तू क्या प्यार करेगा"अनुराधा पौडवाल5:29
4."इस मेले में लोग आते हैं"जॉली मुखर्जी, अनुराधा पौडवाल5:42
5."मैं बोतल नहीं शराब की"अनुराधा पौडवाल5:16
6."अरे जाने वाले"अनुराधा पौडवाल3:25
7."प्रेम है दीपक राग"अफरोज़ बानो5:02

सन्दर्भ[संपादित करें]

बाहरी कड़ियाँ[संपादित करें]