सावित्री (सत्यवान की पत्नी)

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search

सावित्री राजर्षि अश्वपति की कन्या थी| उसने वनवासी राजा द्युमत्सेन के पुत्र सत्यवान् को पतिरूप में स्वीकार किया था। सावित्री के पति सत्यवान की मृत्यु के बाद, सावित्री ने अपनी तपस्या के बल पर सत्यवान को पुनर्जीवित कर लिया था। सावित्री की कहानी मृत्यु पर मनुष्य की विजय की कहानी है|

सन्दर्भ[संपादित करें]