सामाजिक इंजीनियरी (सुरक्षा)

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search

सूचना सुरक्षा के सन्दर्भ में सामाजिक इंजीनिअरी (Social engineering) वह कला है जिसकी सहायता से कोई दूसरे व्यक्तियों को अपनी इच्छा के अनुरूप कार्य करने के लिए या कुछ गोपनीय सूचनाएँ उगलने के लिए तैयार कर देती है। यह एक प्रकार की विश्वास युक्ति (कॉनफिडेन्स ट्रिक) या दूसरों को विश्वास में लेकर धोखा देना है[1]

यह सुविदित है कि किसी संस्था के सदस्यों का व्यवहार उस संस्था के सूचना-सुरक्षा को पुष्ट या लचर बना सकता है। यदि कोई 'घर का भेदी' अज्ञानतावश दूसरे के बहकावे में आ जाय तो संस्था की सूचना-सुरक्षा को बहुत हानि पहुँच सकती है[2]

इन्हें भी देखें[संपादित करें]

बाहरी कड़ियाँ[संपादित करें]

सन्दर्भ[संपादित करें]

  1. Anderson, R. (२००८). Security Engineering: A Guide to Building Dependable Distributed Systems. Books 24x7 IT PRO (अंग्रेज़ी में). Wiley. आई॰ऍस॰बी॰ऍन॰ 978-0-470-06852-6. अभिगमन तिथि २९ अप्रैल २०१८.
  2. Ernest Chang, Shuchih; Lin, Chin‐Shien (३ अप्रैल २००७). "Exploring organizational culture for information security management". Industrial Management & Data Systems. Emerald. 107 (3): 438–458. आइ॰एस॰एस॰एन॰ 0263-5577. डीओआइ:10.1108/02635570710734316.