सानमोखांआरि लामाजों

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search
सानमोखांआरि लामाजों  
अंतरनाद

}|]]

|caption= सानमोखांआरि लामाजों |label1= लेखक |data1= कातिन्द्र सोरगियारि |label2= मूल शीर्षक |data2= |label3= अनुवादक |data3= |label4= चित्र रचनाकार |data4= |label5= आवरण कलाकार |data5= |label6= देश |data6= भारत |label7= भाषा |data7= बोडो भाषा |label8= शृंखला |data8= |label9= विषय |data9= |label10= प्रकार |data10= |label11= प्रकाशक |data11= |label12= प्रकाशन तिथि |data12= |label13= हिन्दी में
प्रकाशित हुई |data13= |label14= मीडिया प्रकार |data14= |label15= पृष्ठ |data15= |label17= आई॰ऍस॰बी॰ऍन॰ |data17 = |label18= ओसीएलसी क्र. |data18= |label19= पूर्ववर्ती |data19= |label20= उत्तरवर्ती |data20= }} सानमोखांआरि लामाजों बोडो भाषा के विख्यात साहित्यकार कातिन्द्र सोरगियारि द्वारा रचित एक उपन्यास है जिसके लिये उन्हें सन् 2006 में बोडो भाषा के लिए साहित्य अकादमी पुरस्कार से सम्मानित किया गया।[1]

सन्दर्भ[संपादित करें]

  1. "अकादमी पुरस्कार". साहित्य अकादमी. मूल से 15 सितंबर 2016 को पुरालेखित. अभिगमन तिथि 11 सितंबर 2016.