सागर माला परियोजना

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search
सागर माला परियोजना
देश भारत
प्रधानमन्त्री नरेंद्र मोदी
मन्त्रालय नौवहन मंत्रालय
प्रमुख लोग नितिन गडकरी
स्थापित जुलाई 31, 2015; 3 वर्ष पहले (2015-07-31)
बजट
वर्तमान स्थिति: चालू

सागर माला परियोजना (Sagar Mala project) भारत के बंदरगाहों के आधुनिकीकरण के लिए भारत सरकार की एक रणनीतिक और ग्राहक-उन्मुख पहल है जिससे पोर्ट के नेतृत्व वाले विकास को बढ़ाया जा सके और भारत के विकास में योगदान करने के लिए तट रेखाएं विकसित की जा सकें। यह मौजूदा बंदरगाहों को आधुनिक विश्वस्तरीय बंदरगाहों में रूपांतरित करने और सड़क, रेल, अंतर्देशीय और तटीय जलमार्गों के माध्यम से बंदरगाहों, औद्योगिक समूहों और दूरदराज के इलाकों और कुशल निकास प्रणालियों के विकास को एकीकृत करने की दिशा में दिख रहा है जिसके परिणामस्वरूप तटीय क्षेत्रों में बंदरगाह आर्थिक गतिविधियों के ड्राइवर बन सकेंगे।[1]

पृष्ठभूमि[संपादित करें]

25 मार्च 2015 को कैबिनेट ने भारत के 12 बंदरगाहों और 1208 द्वीप समूह को विकसित करने के लिए इस परियोजना को मंजूरी दे दी।[2] परियोजना 31 जुलाई 2015 को कर्नाटक में नौवहन मंत्रालय (इस पहल के लिए नोडल मिनिस्ट्री) द्वारा होटल ताज वेस्ट एंड, बैंगलोर में शुरू की गई थी।[3][4][5]

कार्यक्रम का उद्देश्य भारत के 7,500 किलोमीटर लंबी तटीय समुद्र तट, 14,500 किलोमीटर की संभावित जलमार्ग और प्रमुख अंतरराष्ट्रीय समुद्री मार्गों पर रणनीतिक स्थान का उपयोग करके देश में बंदरगाह के विकास को बढ़ावा देना है।[6]

सागरमाला के लिए आंध्र प्रदेश सरकार ने 36 परियोजनाएं प्रस्तावित की हैं। भारतीय तटीय क्षेत्र को तटीय आर्थिक क्षेत्र (सीईआर) के रूप में विकसित किया जाएगा।[7]

20 जुलाई 2016 को भारतीय मंत्रिमंडल ने 1000 करोड़ रूपए की प्रारंभिक प्राधिकृत शेयर पूंजी और 90 करोड़ रूपये की साझेदारी पूंजी के साथ सागरमाला डेवलपमेंट कंपनी को मंजूरी दे दी थी, जिससे पोर्ट-डिमांड के विकास को बढ़ावा मिला।[8]

सागरमाला राष्ट्रीय परिप्रेक्ष्य योजना 14-अप्रैल-2016 को परियोजना और कार्यान्वयन के विवरण के साथ जारी की गई थी।[9][10]

एक रिपोर्ट में कहा गया है कि सागर माला परियोजना के तहत बंदरगाह के विकास के लिए सरकार की महत्वाकांक्षी गति से 2025 तक रसद लागत में 40,000 करोड़ रुपये की बचत होगी।[11]

प्रस्तावित बंदरगाह[संपादित करें]

सागरमराला परियोजना में छः मेगापोर्ट को बनाने की योजना बनाई गई है।[12]

क्र.सं. नया बंदरगाह स्थान राज्य वर्तमान स्थिति
1. सागर द्वीप पश्चिम बंगाल सागर द्वीप में बडा सागर बंदरगाह की स्थापना के लिए स्वीकृति प्राप्त की गई। डीपीआर ने तैयारी की। राज्य सरकार द्वारा पश्चिम बंगाल के ताजपुर में नए बंदरगाह ताजपुर बंदरगाह के उद्घाटन के मद्देनजर व्यवहार्यता की फिर से जांच की जा रही है।
2. पारादीप बाहरी हार्बर ओडिशा तैयारी के तहत डीपीआर।
3. सिर्खजी तमिलनाडु टेक्नो आर्थिक व्यवहार्यता रिपोर्ट (टीईएफआर) तैयार की गई।
4. इनायम तमिलनाडु इनायत में प्रमुख बंदरगाह की स्थापना के लिए प्राप्त सिद्धांत अनुमोदन में। तैयारी के तहत डीपीआर।
5. बेलिकेरी कर्नाटक टेक्नो आर्थिक व्यवहार्यता रिपोर्ट (टीईएफआर) तैयार की गई।
6. वधावन महाराष्ट्र तैयारी के तहत डीपीआर।
*डीपीआर (Detailed Project Report) --> विस्तृत परियोजना रिपोर्ट

वित्त[संपादित करें]

सागर माला कार्यक्रम के अंतर्गत, 2015 से 2035 की अवधि के दौरान करीब 7.98500 लाख करोड़ (120 बिलियन अमरीकी डालर) के लगभग अनुमानित निवेश पर 415 परियोजनाओं को बंदरगाह आधुनिकीकरण और नए बंदरगाह विकास, बंदरगाह कनेक्टिविटी बढ़ाने, बंदरगाह से जुड़े औद्योगीकरण और चरण-वार कार्यान्वयन के लिए तटीय सामुदायिक विकास में पहचाने गए हैं। सागर माला कार्यक्रम की स्वीकृत कार्यान्वयन योजना के मुताबिक इन परियोजनाओं को केंद्रीय/सरकारी एजेंसियों और राज्य सरकारों द्वारा प्राथमिक रूप से निजी/पीपीपी मोड के जरिए लिया जाना चाहिए। विवरण नीचे दिए गए हैं

क्र.सं. परियोजना थीम परियोजनाओं की संख्या परियोजना लागत (रुपये करोड मे)
1. बंदरगाह आधुनिकीकरण 189 142,828
2. कनेक्टिविटी संवर्धन 170 230,576
3. पोर्ट-लिंक औद्योगिकीकरण 33 420,881
4. तटीय सामुदायिक विकास 23 4,216
कुल 415 798,500

[13]

इन्हें भी देखें[संपादित करें]

सन्दर्भ[संपादित करें]

  1. "Concept Note on Sagar Mala Project:Working Paper". Ministry of Shipping, Government of India. http://www.ipa.nic.in/Conceptnote.pdf. अभिगमन तिथि: 4 July 2015. 
  2. "Cabinet gives 'in principle' nod to concept of Sagarmala project". Economic Times, Times of India. 27 March 2015. http://articles.economictimes.indiatimes.com/2015-03-27/news/60475179_1_waterways-varanasi-haldia-port-led-development. 
  3. Sagarmala project launched, 4 August 2015
  4. "Sagarmala: Concept and implementation towards Blue Revolution". Press Information Bureau. 25 March 2015. http://pib.nic.in/newsite/PrintRelease.aspx?relid=117691. 
  5. http://shipmin.nic.in/showfile.php?lid=2217
  6. "One crore jobs in shipping, ports under Sagarmala: Nitin Gadkari", The Economic Times, 9 April 2016
  7. "AP government proposes 36 plans for Sagarmala project", The Deccan Chronicle, 10 April 2016
  8. http://economictimes.indiatimes.com/news/economy/policy/nod-to-sagarmala-development-company-with-rs-1000-crore-authorised-share-capital/articleshow/53308267.cms
  9. http://pib.nic.in/newsite/PrintRelease.aspx?relid=138881
  10. http://pibphoto.nic.in/documents/rlink/2016/apr/p201641402.pdf
  11. https://www.trukky.com/blog/waterway-transportation-will-save-indias-rs-40000-crore-sagarmala-project/
  12. "Sagarmala Programme". http://pib.nic.in/newsite/PrintRelease.aspx?relid=159037. 
  13. http://pib.nic.in/newsite/PrintRelease.aspx?relid=159037