साक्ष्य

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
यहाँ जाएँ: भ्रमण, खोज

मोटे तौर पर साक्ष्य (Evidence) में वे सभी चीजें सम्मिलित हैं जो किसी कथन की सत्यता सिद्ध करने के लिये प्रयोग की जाती हैं। साक्ष्य देना वह प्रक्रिया है जिसमें वे चीजें प्रस्तुत की जाती हैं जो -

  • सत्य समझी जांय, या
  • वे स्वयं अन्य साक्ष्यों के द्वारा सिद्ध हों।

प्रत्यक्ष साक्ष्य[संपादित करें]

प्रत्यक्ष साक्ष्य या प्रत्यक्ष प्रमाण सीधे रुप से एक अभियुक्त की सच्चाई का समर्थन करता है, अर्थात्, किसी हस्तक्षेप के बिना।

उदाहरण के लिए: एक गवाह जो यह प्रमाणित करता है कि उसने प्रतिवादी को आहत को गोली मारते देखा है, वह प्रत्यक्ष प्रमाण प्रदान करता है।

परिस्थितिजन्य साक्ष्य[संपादित करें]

परिस्थितिजन्य साक्ष्य एक सबूत हैं जो अगर सिद्ध हो जाता है तो वह एक तर्क का समर्थन करता है कि यह मुद्दा सही है।

उदाहरण के लिए: एक गवाह जो यह प्रमाणित करता है कि उसने प्रतिवादी को अपराध के दृश्य से भागते हुए देखा, वह परिस्थितिजन्य साक्ष्य होती है जिससे तर्क लगाया जा सकता है की प्रतिवादी अपराधी है; पर यह प्रत्यक्ष साक्ष्य नहीं हैं।

बाहरी कड़ियाँ[संपादित करें]

  • ASTM E141 Standard Practice for Acceptance of Evidence Based on the Results of Probability Sampling