साँची पुरातत्व संग्रहालय

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search
साँची पुरातत्व संग्रहालय
Archaeological Museum

साँची पुरातत्व संग्रहालय
साँची पुरातत्व संग्रहालय की भारत के मानचित्र पर अवस्थिति
साँची पुरातत्व संग्रहालय
साँची पुरातत्व संग्रहालय
स्थान साँची, मध्य प्रदेश, भारत
प्रकार पुरातात्विक

साँची पुरातत्व संग्रहालय साँची का पुरातात्विक स्थल के पास एक संग्रहालय है। इसमें विभिन्न अवशेष हैं जो पास के बौद्ध परिसर में पाए गए थे।.[1][2] एक महत्वपूर्ण पर्यटक आकर्षण के रूप में सांची संग्रहालय भारतीय समृद्ध धार्मिक और स्थापत्य विरासत का साक्षी है। कई दुर्लभ और प्राचीन वस्तुओं का प्रदर्शन इस संग्रहालय का दौरा करने योग्य बनाता है।

इतिहास[संपादित करें]

वर्ष 1919 में सर जॉन मार्शल द्वारा एक पुरातात्विक संग्रहालय रूप में विकसित किया गया था जिसे बाद में सांची संग्रहालय में परिवर्तित कर दिया गया। भारतीय पुरातत्व सर्वेक्षण वर्तमान में इस संग्रहालय का मालिक है। सुबह 9 बजे से शाम को 5 बजे तक सार्वजनिक देखने के लिए इसे खुला रहता है। पर्यटननों को प्रवेश के लिए शुल्क देना होता है। भारतीय नागरिकों के लिए 30 रूपये तथा विदेशी पर्यटकों के लिए 500 रूपये का शुल्क है।

सांची संग्रहालय का विवरण[संपादित करें]

साँची संग्रहालय की गैलरी

भारत में तीसरी, दूसरी और पहली शताब्दी ईसा पूर्व काल की सबसे पुरानी पत्थर की मूर्तियों की एक बड़ी संख्या साँची संग्रहालय में एकत्र की गई है। उन सभी को सांची से ही इकट्ठा किया गया है। संग्रहालय में कई सदियों पुरानी कस्केट और बर्तनों को देखा जा सकता है। भिक्षुओं द्वारा उपयोग की जाने वाली कुछ धातु वस्तुओं को भी संग्रहालय में रखा गया है। टोरना या सजावटी गेटवे के हिस्सों संग्रहालय में संरक्षित हैं। बाद में प्रसिद्ध अशोक शेर स्तम्भ जिसे भारत के राष्ट्रीय प्रतीक के रूप में अपनाया गया था, संग्रहालय में भी रखा है।

सन्दर्भ[संपादित करें]

  1. Archaeological Survey of India
  2. Sanchi Archaeological Museum page