साँचा:आज का आलेख ३ जुलाई २००९

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search
पृथ्वी पर भूमध्य रेखा लाल रंग में दर्शित
भूमध्य रेखा पृथ्वी की सतह पर उत्तरी ध्रुव एवं दक्षिणी ध्रुव से सामान दूरी पर स्थित एक काल्पनिक रेखा है। यह पृथ्वी को उत्तरी और दक्षिणी गोलार्ध में विभाजित करती है। दूसरे शब्दों में यह पृथ्वी के केंद्र से सर्वाधिक दूरस्थ भूमध्यरेखीय उभार पर स्थित बिन्दुओं को मिलाते हुए ग्लोब पर पश्चिम से पूर्व की ओर खींची गई कल्पनिक रेखा है। इस पर वर्ष भर दिन-रात बराबर होतें हैं, इसलिए इसे विषुवत रेखा भी कहते हैं। अन्य ग्रहों की विषुवत रेखा को भी सामान रूप से परिभाषित किया गया है। इस रेखा के उत्तरी ओर २३½° में कर्क रेखा है व दक्षिणी ओर २३½° में मकर रेखा है। भूमध्य रेखा का अक्षांश ०° एवं लम्बाई लगभग ४०,०७५ कि.मी है। यहां पर दिनमान के साथ साथ मौसम भी समान ही रहता है। वर्षा ऋतु और अधिक ऊंचाई के भागों को छोड़कर, इस रेखा के निकट वर्ष भर उच्च तापमान बना रहता है। पृथ्वी की सतह पर अधिकतर भूमध्य रेखीय क्षेत्र समुद्र का भाग है। भूमध्य रेखा का उच्चतम बिंदु ४६९० मीटर ऊंचाई पर कायाम्बे ज्वालामुखी, इक्वाडोर के दक्षिणी ढाल पर है। विस्तार में...