सहभागी प्रेक्षण

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search

सहभागी प्रेक्षण मानव विज्ञान की सर्वप्रमुख विशेषता है। इसके अंतर्गत मानवविज्ञानी एक निश्चित समय अपने द्वारा अध्ययन किए जा रहे मानव समूह के साथ बिताते हैं। यह समय कम से कम एक वर्ष होता है। मानवविज्ञानी जनसमूह में घुल मिल कर रहता है। इससे जो अध्ययन सामने आता वह उस समूह की सच्ची तस्वीर पेश करता है। सहभागी प्रेक्षण के माध्यम से अध्ययन के दौरान शोध कर्ता से यह आशा की जाती है कि वह अपना अध्ययन मूल्य निरपेक्ष होकर करे। इसका तात्पर्य है कि वह अपने अध्ययन के दौरान अपने निजी ये अपने सामाजिक परिवेश के मूल्यों को सामने न लाये। वह नृजातीय समूह का अध्ययन उनके स्वयं के मूल्यों के संदर्भ में करें। ऐसा करने पर ही वे वस्तुनिष्ठ व वैज्ञानिक निष्कर्ष प्रस्तुत कर सकते हैं।