सर्दन ब्लॉट

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search

सर्दन ब्लॉट एक प्रणाली है जो इस्तेमाल होता है आणविक जीव विज्ञान मे, डीएनए अनुक्रम का पता लगाया जाता है डीएनए के नमूनो में से। सर्दन ब्लॉट में डीएनए का हस्तांतरण वैद्युतकणसंचलन के दुआर, डीएनए के टुकडो को फिल्टर झिल्ली पर अलग करना और प्रोब को उसमे डालना और उनकी जाँच करना ए सब आता है। सर्दन ब्लॉट ब्रिटिश जीवविज्ञानी एडविन दक्षिणी ने दिया था।[1]

तरीका[संपादित करें]

  • प्रतिबंधित एंजाइम बड़े डीएनए के नमूने को काट कर छोटे डीएनए के टुकडे कर देते हैं।
  • डीएनए के टुकड़ो को वैद्युतकणसंचलन किया जाता है अगरोसे जेल में डीएनए अलग हो जाते है उनके आकार के मुताबिक।
  • अलग हुए डीएनए को क्षारीय घोल में रखा जाता है डीएनए को तत्व-विकिरण करने के लिए, जेल की प्लेट के उपर नैत्रोसल्लोस झिल्ली या फ़िल्टर रखी जाती है और उस पर पेपर रखे जाते हैं।
  • नैत्रोसल्लोस झिल्ली या फ़िल्टर पर प्रतिबंधित टुकड़े लग जाते है।
  • फेर फ़िल्टर को सेते किया जाता है संकरण के तहत रेडियोलेबल डीएनए प्रोब के साथ।
  • अतिरिक्त प्रोब प्रक्षालित क्र दिए जाते हैं।
  • जो प्रोब प्रतिबंधित टुकडो से जुड़े हुए है उनको ऑटोरेडियोग्राफी से पता लगा लिया जाता है।

आवेदन[संपादित करें]

  • इस्तेमाल होता है आणविक जीव विज्ञान मे।
  • अगर डीएनए में कोई परिवर्तन हुआ है तो उसका पता लगाया जा सखता।
  • फॉरेंसिक में इस्तेमाल होता है
  1. अपराधिक जाँच मै।
  2. पितृत्व परीक्षण मे।
  3. लिग का पता लगाने मे।
  4. व्यक्ति की जाँच
  • किसी बीमारी का पता लगाने मे।
  • डीएनए में हुए परिवर्तन जैसे जुड़ ना, हटना या दुगना होना।

सन्दर्भ[संपादित करें]

  1. Southern, Edwin Mellor (5 November 1975). "Detection of specific sequences among DNA fragments separated by gel electrophoresis". Journal of Molecular Biology. 98 (3): 503–517. doi:10.1016/S0022-2836(75)80083-0. ISSN 0022-2836. PMID 1195397