सरिता

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search

सरिता मूलतः संस्कृत का शब्द है जिसे हिंदी में अपना लिया गया है। सरिता का अर्थ नदी होता है।

सरिता की प्रकृति प्रवाहित होना है। इसी लिये प्रवाह का भाव देने के लिये तथा शब्दों को अलंकृत करने के लिये अन्य शब्दों के साथ सरिता शब्द का प्रयोग प्रत्यय के रूप में किया जाता है जैसे कि 'संगीतसरिता', 'साहित्यसरिता' आदि।

स्त्रीवाचक सुन्दर शब्द होने के कारण लोग अपनी कन्या का नाम भी सरिता रख देते हैं।

उदाहरण[संपादित करें]

  • गंगा, कावेरी और नर्मदा भारत की पवित्र सरिताएँ हैं।
  • सरिता के प्रवाह को भला कौन रोक सकता है?
  • सरिता तट पर पहुँच कर हमारा हृदय उल्लासित हो गया।
  • सरिता के दोनों तटों का मेल कभी भी नहीं हो सकता।

संबंधित शब्द[संपादित करें]