सम्भोट लिपि

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search
थोन्मि सम्भोट
नेफु मठ के करीब मौजूदा सम्भोट लिपि में लिखित सील-मणि

सम्भोट लिपि सातौं शताब्दीमें तिब्बतका धर्मराजा स्रोंचन गम्पो (Tib: སྲོང་བཙན་སྒམ་པོ།, Wylie: srong btsan sgam po, ५६९–६४९?/६०५–६४९?) का मंत्री थोन्मि सम्भोट (Thönmi Sambhota, aka Tonmi Sambhodha;, तिब्बती: ཐོན་མི་སམྦྷོ་ཊ།, Wylie: thon mi sam+b+ho Ta) द्वारा रचित एक लिपि है जो प्राचीन समय से ही तिब्बती, शेर्पा, लद्दाखी, भूटानी, भोटे, सिक्किमी आदि द्वारा हिमाली क्षेत्रों में बोली जाने वाली भाषामें प्रयोग किया जाता है। लोग इस लिपिका तिब्बती लिपि की नाम से भी जानी जाती है।

इतिहास[संपादित करें]

सम्भोट लिपि में लिखित बौद्ध पाठ

सम्भोट लिपि सातवीं सदी के मध्य की ओर तिब्बत के धर्म राजा स्रोंचन गम्पोका शासनकाल के दौरान थोन्मि सम्भोट ने आविष्कार किया है। राजा स्रोंचन गम्पो ने अपने देश में भी चीन, नेपाल और भारत आदि पड़ोसी देशों कि तरह लिपि में देश का इतिहास और संविधान आदि बनाने तथा विशेष रूप से भारत से बौद्ध धर्म ग्रंथों का तिब्बती भाषा में अनुवाद के लिए थोन्मि सम्भोटको शिक्षा हासिल का निम्ति भारत में भेजा। थोन्मि सम्भोट ने भारत की विद्वानों से शब्द्विद्यका ज्ञान प्राप्त होने के बाद आफ्ना मुलुक में लौटकर रंजना लिपि और वर्तु लिपिका आधारपर उचन और उमेद दो लिपिका अविष्कार किया। तिब्बती इतिहासके मुताबिक अफने द्वारा निर्माण कियागया लिपि में तिब्बती भाषाका पहेल व्याकरण व्याकरण मूल त्रिंशत् तथा लिंगावतर नामक इत्यादि आठ प्रकार की व्याकरणों का भी रचना की गयी थी। परन्तु उस लेखों से हल व्याकरण मूल त्रिंशत् तथा लिंगावतर दोनों ही रही है।

अनुवाद और लिप्यन्तरन[संपादित करें]

लिपि संशोधन[संपादित करें]

मूल वर्णमाला[संपादित करें]

सम्भोट लिपिका चार स्वरवर्ण
ཨི་ ཨུ་ ཨེ་ ཨོ་
सम्भोट लिपिका तीस व्यंजन वर्ण
ཀ་ ཁ་ ག་ ང་ क वर्ग
ཅ་ ཆ་ ཇ་ ཉ་ च वर्ग
ཏ་ ཐ་ ད་ ན་ त वर्ग
པ་ ཕ་ བ་ མ་ प वर्ग
ཙ་ ཚ་ ཛ་ ཝ་ च़ वर्ग
ཞ་ ཟ་ འ་ ཡ་ श़ वर्ग
ར་ ལ་ ཤ་ ས་ र वर्ग
ཧ་ ཨ་ ह वर्ग

संख्या[संपादित करें]

Sambhota
अंग्रेजी 0 1 2 3 4 5 6 7 8 9

संकेत और विराम[संपादित करें]

चिन्ह र विराम नाम कार्य
ཡིག་མགོ་

yig-mgo

पाठ को शुरुवात निशान
སྦྲུལ་ཤད།

sbrul-shad

विषय र उप विषयहरूको वर्ग छुट्याउछ
ཚེག

tseg

सीमांकक
ཆིག་ཤད།

chig-shad

पूर्ण बिराम (पाठको एक खण्ड अन्त जनाउछ)
ཉིས་ཤད།

nyis-shad

पूर्ण बिराम (पूर्ण विषयको अन्त जनाउछ)
བསྡུས་རྟགས།

bsdus-rtags

पुनरावृत्ति
ཨང་ཁང་གཡོན་པ།

ang-khang gyon

बायाँ कोष्ठ
ཨང་ཁང་གཡས་པ།

ang-khang gyas

दायाँ कोष्ठ

वर्गीकरण[संपादित करें]

सम्भोट लिपि का उपयोग करने के लिए भूमि[संपादित करें]

  • चीन
  • भूटान
  • नेपाल
  • भारत
  • मंगोल

सम्भोट लिपि का उपयोग करने के लिए अनुसूचित जाति[संपादित करें]

  • भुटानी
  • तिब्बती
  • शेर्पा
  • जिरेल
  • गुरुङ
  • डोल्पाली
  • तामाङ
  • मुकु वासी
  • योल्मो
  • तिब्बत
  • सिक्किमी
  • अरुणाचल निवासी

संदर्भ सामग्री[संपादित करें]

यहां भी देखे[संपादित करें]