समुद्रीय एलेक्ट्रानिकी

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search

समुद्रीय एलेक्ट्रॉनिकी (Marine electronics) एलेक्ट्रानिकी की वह शाखा है जिसमें समुद्री वातावरण के अनुरूप काम करने वाली एलेक्ट्रानिक प्रणालियों के डिजाइन एवं विकास का अध्ययन किया जाता है। चूँकि नमकीन जल की एक छोटी बूँद भी किसी सामान्य एलेक्ट्रानिक परिपथ को भ्रष्ट कर सकती है, इसलिये समुद्री माहौल में काम करने के लिये डिजाइन की जाने वाली प्रणालियाँ या तो जल-रोधी (water resistant) होतीं हैं या जलरक्षित (waterproof.)। समुद्री चार्टप्लॉटर, कृत्रिम-पाइलॉट (आटोपाइलॉट), वीएचएफ रेडियो, मीनान्वेषी (फिश-फाइण्डर) आदि समुद्री एलेक्ट्रानिक प्रणालियों के कुछ उदाहरण हैं।