सद्धर्मपुण्डरीक सूत्र

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search

सद्धर्मपुण्डरीक सूत्र (=सत् + धर्म +पुण्डरीक सूत्र) बौद्ध धर्म के महायान सम्प्रदाय के सबसे प्रसिद्ध एवं महत्वपूर्ण सूत्र ग्रन्थों में से एक है। तिअन्तै, तेन्दै, चेओन्तै और निचिरेन बौद्ध सम्प्रदाय इसी ग्रन्थ पर आधारित हैं।

पूर्वी एशियाई देशों के अनेकों बौद्ध प्राचीन काल से सद्धर्मपुण्डरीकसूत्र को 'बुद्ध के अन्तिम उपदेश' और 'निर्वाण के लिए पूर्ण एवं पर्याप्त' मानते हैं।

सन्दर्भ[संपादित करें]

बाहरी कड़ियाँ[संपादित करें]