सदस्य वार्ता:Sir Aman Gulati

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search
स्वागत! Crystal Clear app ksmiletris.png नमस्कार Sir Aman Gulati जी! आपका हिन्दी विकिपीडिया में स्वागत है।

-- नया सदस्य सन्देश (वार्ता) 22:25, 15 मार्च 2019 (UTC)

मोटे अक्षर== अमन सिंह गुलाटी ==

अमन सिंह गुलाटी का जन्म 11 अक्टूबर सन 2001 को लखीमपुर खीरी में हुआ उन्होंने अपनी दसवीं तक की पढ़ाई सेंट डॉन बॉस्को कॉलेज लखीमपुर-खीरी से पूरी की और अपनी बारहवीं कक्षा की श्री गुलाटी का चित्रकला के क्षेत्र में मात्र छह वर्ष की उम्र से ही रुझान था , वह अपनी चित्रकारिता अलग अलग स्तर पर दिखाते रहते थे , श्री गुलाटी ने विभिन्न चित्रकला प्रतियोगिताओं में प्रतिभाग किया वह उत्कृष्ट स्थान प्राप्त किया , इसके अलावा उन्हें वर्ष 2016 में अमेरिकी संस्था के द्वारा चित्रकला प्रतियोगिता में प्रथम स्थान से नवाजा गया , वर्ष 2017 अगस्त माह में श्री गुलाटी ने जिले में पहला विश्व कीर्तिमान बनाया जिसमें मुख्य रूप से उन्होंने भारतीय जवानों को समर्पित विश्व की सबसे लंबी राखी 880 फीट की बनाई , वर्ष 2017 अक्टूबर माह में (विश्व का सबसे छोटा पोर्ट्रेट शहीद भगत सिंह जी का बनाया) जिसका माप आई रेटिना का 1/4 है . यह अनोखा पोर्ट्रेट बिना किसी यंत्रों की मदद के बनाया गया , वर्ष 2017 दिसंबर माह में (विश्व का सबसे बड़ा पजल पोर्ट्रेट) श्री गुरु गोविंद सिंह जी के 351 प्रकाशोत्सव पर समर्थित बनाया गया , श्री गुलाटी की उपलब्धियों को देखते हुए उन्हें ( यूनिवर्सल रिकार्ड फर्म ) की तरफ से वर्ष 2018 जनवरी माह में ( ग्लोबल अवार्ड 2018 ) से भी सम्मानित किया गया , वर्ष 2018 के मार्च के महीने में उत्तर प्रदेश के महामहिम राज्यपाल महोदय जी की पुस्तक चरैवेति चरैवेति का विश्व का सबसे बड़ा मुख्य पृष्ठ बनाकर चौथा विश्व कीर्तिमान स्थापित किया , इतना ही नहीं श्री गुलाटी की उपलब्धियों को देखते हुए उत्तर प्रदेश के राज्यपाल राम नायक जी के द्वारा उन्हें पुरस्कृत किया गया , वर्ष 2018 अक्टूबर माह में महात्मा गांधी की 150 जयंती को समर्पित विश्व की सबसे अनोखी तस्वीर बनाई , इस तस्वीर को अफ्रीकी देश केन्या की राजधानी नैरोबी में प्रदर्शित किया गया , चित्रकला के क्षेत्र में इतनी उपलब्धियों को देखते हुए उन्हें सिख समाज का दुनिया का सबसे सर्वोच्च सम्मान टॉप 10 सिख अवार्ड पिछले माह केन्या की राजधानी नैरोबी में एक खास कार्यक्रम में वहां के राष्ट्रपति के साथ मिला , अभी कुछ दिन पहले वेस्ट बंगाल की राजधानी कोलकाता में उन्हें अमेरिकी संस्था (यू-आर- एफ) के द्वारा "सर" टाइटल से नवाजा गया , अभी कुछ दिन पहले पुलवामा में आतंकी हमले में शहीद हुए भारतीय जवानों की स्मृतियों को याद में रखते हुए अमन ने लखनऊ स्थित हजरतगंज जीपीओ पार्क में गांधी प्रतिमा पर लगातार 72 घंटे जग कर शहीद हुए 44 जवानों की तस्वीरों को उकेरा , यह अमन के द्वारा दिए गई शहीदों को अद्भुत श्रद्धांजलि दी , जिसके लिए अमन को डीआईजी सीआरपीएफ वहां प्रमुख सचिव उत्तर प्रदेश शासन के द्वारा सम्मानित भी किया गया . इतना ही नहीं अभी भारतीय वायुसेना के विंग कमांडर अभिनंदन जो वायु सेना के वायु युद्ध के दौरान पाकिस्तान की सीमा में क्षतिग्रस्त होकर चले गए , उनकी भारत वापसी के स्वागत के लिए अमन ने बादाम के ऊपर विंग कमांडर अभिनन्दन की विश्व की सबसे अद्भुत तस्वीर बनाकर उनका अपने तरीके से स्वागत किया . इसके साथ साथ वह पिछले चार सालों से निशुल्क रूप से गरीब बच्चों को चित्रकला का ज्ञान देते हैं , इसके साथ साथ वह भविष्य में आने वाले अन्य कई अंतरराष्ट्रीय प्रोजेक्टों पर वह काम कर रहे हैं . Sir Aman Gulati (वार्ता) 22:32, 15 मार्च 2019 (UTC)