सदस्य वार्ता:SHOBHA SOREN(ADIVASI CHETNA MANCH)

मुक्त ज्ञानकोश विकिपीडिया से
Jump to navigation Jump to search

शोभा सोरेन (जन्म- 01 जनवरी 1991) एक भारतीय राजनीतिज्ञ है, और बिहार में आदिवासी (समुदाय)जाति से प्रथम आदिवासी महिला लोकभा प्रत्याशी पूर्णियां ,बिहार से रही है, वह अखिल आदिवासी चेतना मंच (AACM)के सचिव सह सामाजिक कार्यकता है, जो भारतीय समाज के सबसे कमजोर वर्गो-पिछड़ा वर्ग, अनुसूचित जाति और अनुसूचित जनजातियो और अन्य अन्य धार्मिक अल्पसंख्यकों के जीवन में सुधार के लिए सामाजिक परिवर्तन के एक मंच पर उन्हीत है। -शोभा सोरेन -निर्वाचन क्षेत्र- पूर्णिया(बिहार) -जन्म 01 जनवरी 1991 (आयु 28 वर्ष) -राजनैतिक पार्टी- नहीं (निर्दलय) -समाज सेवा- अखिल आदिवासी चेतना मंच (AACM) -कार्य-संपूर्ण भारत -संबंधी- तीन बहन और एक भाई -गृह आवास- केमई बनवाही होला, पोस्ट- सोनदीप, थाना- भवानीपुर(राजधाम)

 जिला-पूर्णियां, बिहार

-व्यवसाय-राजनीतिज्ञ, सामाजिक कार्यकर्ता,आदिवासी क्लोप, सिद्वू कान्दु ट्रेडेसनल ड्रेस( ओनर)

वक्तिगत जीवन शोभा सोरेन का जन्म 1 जनवरी 1991 को पटना के उत्तरी मंदिरी में हुआ था। उनके पिता-भागी नाथ एक पुलिस कर्मी पटना में कार्यरत थे। शोभा सोरेन के तीन वहन और एक भाई है। उन्हें बिहार में बांका, पूर्णिया, कटिहार, पटना मे ( एम.पी. मैडम) के नाम से भी जानी जाती है।

उन्होंने 2018 में जय प्रकाश यूनिर्वसिटी विश्वविद्यालय के अंतर्गत राजेन्द्र कॉलेज छपरा से कला में स्नातक की राजनीति में प्रवेश से पूर्व आदिवासी के उत्थान के लिए प्रसा, भाषा, संस्कृति आदिवासी ड्रेस परंपरीक हथयार तीन-धनुष अन्य सारे समान को समाज के बीच लाने के लिए उन्होंने कड़ी मेहनत की।

राजनैतिक जीवन

2019 में प्रथम आदिवासी महिला लोकसभा प्रत्याशी (निर्दलय) पूर्णियां बिहार की रही है।  कुछ वोट से पिछे रही। उस समय बिहार में उनकों (एम.पी. मैडम)  शोभा सोरेन से जाने लगी।

शोभा सोरेन मानोतान् आबुरेन शोभा सोरेन इतिहास रे प्रथम आदिवासी भोगो जो एम.पी. (सांसद मैडम) ते हो को बाडाय देया जोहार (आखिल आदिवासी चेतना मंच(AACM) भारत का एक जाति रहित एनजीओ चेतना मंच है।

सार्वमौलिक-न्याय सवतंत्रता समानता और भाई चारें के सर्वोच्चय सिद्वांतों की सोच वाला भारत का एक जाति रहित मंच है। इसका गठन मुख्यत:एक क्रांतिकारी सामाजिक और आर्थिक आंदोलन के रूप में काम करने के लिए किया गया है। जो भारत को एक संपूर्ण प्रभुत्व सम्पन्न, समाजवादी, धर्मनिरपेक्ष, लोकतंत्रात्मक, गणराज्य बनाने के लिए तथा उसके समस्त नागरिकों को सामाजिक, आर्थिक और राजनीतिक-न्याय, विचार, अभिव्यक्ति, विश्वास, धर्म और उपासना की स्वतंत्रता, प्रतिष्ठा और अवसर को समानता दिलाने, उनमें व्यक्ति की गरिमा और राष्ट्र की एकता और अखंडता सुनिश्चित करने वाली बंधुता बढ़ाने के लिए कार्य करती है। जैसा भारतीय संविधान की प्रस्तावना में वर्जित है। इसका गठन मुख्यत: भारतीय जाति व्यवस्था के अंतर्गत सबसे नीचे मानेजाने वाले अनुसूचित जाति, अनुसचित जनजाति और अति पिछड़ा अल्पसंख्यक शामिल है। असली नाम- शोभा सोरेन उर्फ के.एम. शोभा कुमारी

उपनाम- अंजली

व्यवसाय-भारतीय पॉलिटिशियन जन्मतिथि-01 जनवरी 1991 जन्म स्थान- उत्तरी मंदिरी बुद्धा कॉलोनी, पटना राशि नाम-कुंभ धर्म-आदिवासी राष्ट्रीय-भारतीय